Gobardhan Yojana Me Online Avedan Kaise Kare – Scheme for Rural India

जब से देश में मोदी सरकार बनी है, तब से पूरे देश में Swachh Bharat Mission जोर शोर से चलाया जा रहा है। Gobardhan Yojana को ग्रामीण स्‍वच्‍छ भारत मिशन के तहत चलाया जा रहा है।

Gobardhan Yojana Me Online Avedan Kaise Kare Hindi Me
गोबर धन योजना

यदि हम Gobardhan Yojana को Swachh Bharat की दृष्टि से देखें तो यह अपने आप में बहुत ही शानदार योजना साबित होने वाली है।

प्रधानमंत्री मोदी के लिये यह योजना कितनी अहमिहयत रखती है, इस बात का अंदाजा उनके द्धारा छत्‍तीसगढ़ के बीजापुर में दिये गए एक भाषण को सुन कर लगाया जा सकता है। जिसमें उन्‍होंनें अपनी 3 प्रमुख योजनाओं का जिक्र किया था।

पीएम मोदी के अनुसार 3 योजनाएं Van Dhan, Jan Dhan और Gobardhan पूरे देश का कायाकल्‍प कर सकती हैं।

आपकी जानकारी के लिये यह बताना आवश्‍यक है कि इस योजना का पूरा नाम Galvanizing Organic Bio-Agro Resources Dhan है, और यह योजना Union Minister for Drinking Water and Sanitation के द्धारा हरियाणा के करनाल जिले से लांच भी की जा चुकी है।

लेकिन Gobardhan Yojana Se Grant kaise le इस बारे में मंत्रालय के द्धारा अभी तक कोई भी जानकारी मंत्रालय की Official Website पर उपलब्‍ध नहीं है। जैसे ही इस बारे में और अधिक जानकारी उपलब्‍ध होगी। इस पोस्‍ट के जरिये उसे तत्‍काल प्रभाव से Update कर आप सभी के सम्‍मुख प्रस्‍तुत कर दिया जाएगा।

Gobardhan Yojana kya hea

Gobardhan Yojana को स्‍वच्‍छ भारत मिशन के अंतर्गत देश की Ministry of Drinking Water and Sanitation के द्धारा चलाया जा रहा है। यह योजना भारत के ग्रामीण इलाकों को स्‍वच्‍छ बनाने की दिशा में अहम योगदान दे रही है।

इस योजना के तहत देश के Rural इलाकों को स्‍वच्‍छ बनाया जाएगा और गांवों में निवास करने वाली आबादी को शुद्ध पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी।

साथ ही पशुओं से प्राप्‍त होने वाले गोबर (पशुओं के मल) तथा खेतों से मिलने वाले अपशिष्‍ट पदार्थों जैसे भूसा, खेत में छूट गए फसल के डंठल व पत्‍ते आदि को कंपोस्‍ट करके उन्‍हें बायोगैस अथवा Bio CNG Gas में बदला जाएगा।

इस प्रक्रिया के बाद किसानों को अच्‍छी किस्‍म की कंपोस्‍ट खाद तो प्राप्‍त होगी ही, साथ ही बायोगैस व Bio CNG Gas प्राप्‍त होने से देश को बहुत लाभ होगा।

Gobardhan Yojana ke labh

Gobardhan Yojana के बहुत लाभ हैं। इस योजना के जरिये देश के देश के ग्रामीण इलाकों न सिर्फ साफ सुथरा बनाया जाएगा बल्कि वहां मौजूद Organic कचरे का सही इस्‍तेमाल करके खाद व गैस भी प्राप्‍त की जा सकेगी।

  • Galvanizing Organic Bio-Agro Resources Dhan Yojana के तहत Gramin Bharat को अधिक साफ सुथरा बनाया जाएगा।
  • इस योजना का सीधा लाभ देश भर के किसानों को मिल सकेगा।
  • गोबर व Organic कचरा बेकार की वस्‍तु न रह कर कीमती वस्‍तु बन जाएगा।
  • किसान कचरे व गोबर के इस्‍तेमाल से धन रूपी सोना हासिल कर सकेगें।
  • चूंकि गांवों में गोबर जैसे पदार्थों का उचित निस्‍तारण संभव होगा तो गांव स्‍वच्‍छ हो जाएंगें।
  • Gobardhan Yojana लागू हो जाने के बाद ग्रामीण भारत में जगह जगह गोबर पड़ा होनें की समस्‍या से छुटकारा मिल जाएगा।
  • पशुओं के मल का उचित निस्‍तारण होने से भूमिगत जल के दूषित होने की संभावना कम हो जाएगी।
  • आर्गेनिक कंपोस्‍ट खाद के इस्‍तेमाल से खेतों की उर्वरक क्षमता में इजाफा होगा।
  • बायोगैस का उत्‍पादन होने से LPG रसोई गैस के सिलेंडरों की खपत में कमी आएगी।
  • Bio CNG Gas से वाहन चल सकेंगें, जिससे देश को पेट्रोलियम उत्‍पादों पर खर्च होनें वाली बहुमूल्‍य विदेशी मुद्रा की बचत हो सकेगी।

Gobardhan Yojana से पशुपालन को बढ़ावा मिलेगा

Gobardhan Yojana से भारत में पशुपालन को बढ़ावा मिलेगा। जिससे देश में दूध और मांस के उत्‍पादन में वृद्धि होगी।

अभी भारत में पशुओं से मिलने वाले दूध, चर्म व मांस का ही उपयोग किया जाता है। लेकिन इस योजना के आ जाने के बाद पशुओं के मल यानि गोबर से आय प्राप्‍त होने लगेगी।

गोबर से होने वाली आय से ग्रामीण इलाकों में रहने वाले पशुपालकों व किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा और वह पहले की अपेक्षा अच्‍छा व सहज जीवन जी पाएंगें।

Gobardhan Yojana के दूरगामी परिणाम

  • गोबर धन का सही इस्‍तेमाल करने से ग्रामीण इलाकों में साफ पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित हो सकेगी। साथ ही बीमारियों पर भी काबू पाया जा सकेगा।
  • गोबर धन के सही इस्‍तेमाल से देश के ग्रामीण इलाकों में नए प्रकार का रोजगार सृजन हो सकेगा।
  • किसानों को Organic Fertilizer हासिल होगा जिससे फसलों का उत्‍पादन अधिक होगा और रासायिक खादों पर होने वाले खर्च को घटाया जा सकेगा।
  • गोबर से प्राप्‍त होने वाली एनर्जी का उपयोग अलग अलग तरीके से उपयोग कर कई खर्चों को घटाया जा सकता है।

Eligibility for Gobardhan Bulk Waste Generator

ऐसे संस्‍थान जो NGO चला रहे हैं या‍ फिर ऐसे उपक्रम जैसे डेयरी, धार्मिक स्‍थल, कारखाने, बूचड़खाने, बाजार, फूड कॉम्‍पलेक्‍स, सामाजिक संगठन, स्‍कूल कॉलेज जो देश के ग्रामीण इलाकों में स्थित हैं और अपशिष्‍ट पदार्थों का बड़े पैमाने पर उत्‍पादन के स्रोत हैं।

ऐसे संगठनों को Gobardhan Yojana Se NGO’s Ko Sarkari Anudan Mil Sakta Hea, इसके लिये NGO’s को Gobardhan Pariyojana के तहत अपशिष्‍ट पदार्थों का संग्रह कर उनसे कंपोस्‍ट खाद, बायोगैस, बायो सीएनजी गैस आदि बनानी होगी।

गोबर धन योजना से जुड़ने वाले NGO’s व अन्‍य संस्‍थानों के पास खुद की जमीन होना अनिवार्य है क्‍योंकि अपशिष्‍ट पदार्थो के निस्‍तारण संबंधी यूनिट इसी जमीन पर स्‍थापित की जाएगी।

इस योजना के तहत एनजीओ व संस्‍थानों को परियोजना लागत का 50 प्रतिशत अनुदान के रूप में दिया जाएगा।

Gobardhan Yojana Me Online Avedan Kaise Kare

Gobardhan Yojana को देश के कई जिलों में लागू कर दिया गया है। वर्ष 2018-19 के लिये 700 प्रोजेक्‍ट लागू करने की मंजूरी दी गई है। पहले 6 माह में 350 परियोजनाएं कई जिलों में शुरू की जाएगीं और फिर बाकी 350 परियोजनाओं को भी लागू कर दिया जाएगा।

Ministry of Drinking Water and Sanitation ने यह तो स्‍पष्‍ट कर दिया है कि गोबरधन योजना का दायरा बहुत ही विस्‍तृत होगा। लेकिन मंत्रालय ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर इस बारें नहीं बताया है कि सामाजिक संगठन / NGOS Gobardhan Yojana Me Online Avedan Kase Kare, ऐसी स्थिति में आपको Online Application सबमिट करने संबंधी जानकारी प्राप्‍त करने के लिये थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा।

जैसे ही कोई जानकारी प्राप्‍त होगी, उसे यहां Update कर दिया जाएगा। तब तक थोड़ी प्रतीक्षा करें।

इन्‍हें भी जरूर पढ़ना चाहिए :

Image Courtesy : Pixabay Free Images & Developed by Kanafusi

Spread the love

3 thoughts on “Gobardhan Yojana Me Online Avedan Kaise Kare – Scheme for Rural India”

  1. बहुत अच्छी जानकारी युक्त पोस्ट, आशा है इससे हमारे ग्रामीण भाई -बहनों को लाभ होगा

    Reply
  2. Aapne Gobardhan Yojana ke bare me vistar se jankari diya hai. Bahut achhi post.. aise hi Govt scheme ke bare me jankari share krte rahiye.

    Reply
    • धन्यवाद विनोद जी, कोशिश करूंगा कि लोगों तक अच्छी और उपयोगी जानकारी पहुंचाता रहूं।

      Reply

Leave a comment