Methanol Cooking Stove Yojana Me Avedan Kaise Kare | Methanol in Hindi

Methanol Cooking Stove Yojana | Methanol Cooking Stove Scheme in Assam | Methanol Cooking Stove Scheme in UP | मेथेनॉल Cook Stove Yojana Uttar Pradesh | Methanol Cooking Stove Scheme pdf Form |

Methanol Cooking Stove Yojana Me Avedan Kaise Kare In Hindi
मेथेनॉल कुक स्टोव योजना

देश के नीति आयोग भारत के पूर्वोत्‍तर राज्‍य असम में Methanol Cooking Stove Yojana संचालित कर रहा है। यह बहुत ही महत्‍वाकांक्षी योजना है।

असम में इस योजना की शुरूआत हो चुकी है। इस योजना के तहत 2 अक्‍तूबर 2018 को असम की रितु बोरदोलोई देश की पहली Methanol Cooking Stove ग्राहक बनीं।

इस योजना को PM Ujjwala Yojana से वंचित परिवारों को लाभ प्रदान करने के मकसद से लांच किया गया है।

साथ ही गैर एलपीजी विकल्‍प होने की वजह से यह बहुत किफायती और भरोसेमंद भी है।

असम में यह योजना बेहद सफल हो रही है। लोग Methanol Cook Stove को खूब पसंद कर रहे हैं।

इसकी आपार सफलता को देखते हुए लगता है, कि मेथेनॉल जल्‍द ही पूरे देश में एलपीजी गैस गैस सिलेंडरों का स्‍थान ले लेगा।

अब नीति आयोग Methanol Cooking Stove Yojana Uttar Pradesh में भी लागू करने जा रहा है। इसकी तैयारियां जोर शोर से चल रही हैं।

Methanol Cooking Stove Yojana का असम में संचालन

मेथेनॉल कुकिंग स्‍टोव स्‍कीम को असम में असम सरकार के अधीन Assam Petro Chemicals Limited के द्धारा जमीनी स्‍तर पर उतारा गया है।

यह योजना असम में नीति आयोग, असम पेट्रोकेमिकल्‍स और असम सरकार के इंडस्‍ट्रीज एंड कॉमर्स डिपार्टमेंट के द्धारा सफलता पूर्वक चलाई जा रही है।

Methanol Cooking Stove Yojana Uttar Pradesh में जल्‍द लांच होगी

इस योजना की असम में आपार सफलता को देखते हुए देश के नीति आयोग ने इसे उत्‍तर प्रदेश में लांच करने का फैसला कर लिया है।

अपने Methanol Cooking Fuel Program के तहत नीति आयोग जनवरी 2019 से उत्‍तर प्रदेश में लागू करने की योजना बना रही है।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि नीति आयोग ने इस योजना के क्रियान्‍वयन की पूरी कार्य योजना उत्‍तर प्रदेश सरकार के पास भेज दी है।

माना जा रहा है, कि इस योजना को लेकर उत्‍तर प्रदेश सरकार ने अपनी गहरी दिलचस्‍पी दिखाई है। प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ जल्‍द ही इस योजना को मंजूरी दे सकते हैं। जिसके बाद इसे उत्‍तर प्रदेश में लागू कर दिया जाएगा।

Methanol Cooking Stove Yojana उत्‍तर प्रदेश के इन जिलों में लागू होगी

मेथेनॉल कुक स्‍टोव योजना उत्‍तर प्रदेश में जनवरी 2019 से पायलट प्रोजेक्‍ट के रूप में लागू होगी। इस योजना को गंगा या घाघरा नदियों के किनारे बसे 5 जिलों में लागू की जाएगी।

गोरखपुर, बलिया, देवरिया, वाराणसी तथा गाजीपुर में इस योजना को सर्वप्रथम लांच किया जाएगा।

इन जिलों के करीब 10 हजार परिवार मेथेनॉल कुकिंग योजना से लाभान्वित होंगे। इस योजना को लागू करने में करीब 15.50 करोड़ रूपये का खर्च आने की संभावना है।

Methanol Cooking Stove Yojana की विशेषताएं

  • असम पेट्रोकेमिकल्‍स ने इस योजना के तहत असम में 500 कनेक्‍शन तथा मेथेनॉल ईंधन के कनस्‍टर वितरित किये हैं।
  • अफ्रीका में करीब 5.5 लाख लोग मेथेनॉल ईंधन का प्रयोग खाना बनाने में करते हैं।
  • वहीं चीन में इस ईंधन का प्रयोग करने वालों की संख्‍या 80 लाख से ज्‍यादा है।
  • यह एक एकल कार्बन कंपाउंड है।
  • भारत में यह LPG गैस का अच्‍छा विकल्‍प बन कर उभर सकता है।
  • इसे गैसोलिन व डीजल के साथ भी मिला कर प्रयोग किया जा सकता है।
  • इसके प्रयोग से सल्‍फर डाई ऑक्‍साइड बिल्‍कुल भी नहीं निकलती है।
  • इसके इस्‍तेमाल से न के बराबर PM और नाइट्रोजन निकलती है।
  • मेथेनॉल ईंधन को डाइमीथाइल में आसानी से बदला जा सकता है। यह डीजल का अच्‍छा विकल्‍प माना जाता है।

Methanol Cooking Stove Yojana के लाभ

  • जिन लोगों को अब तक LPG GAS कनेक्‍शन नहीं मिल पाए हैं। उनके लिये यह बहुत लाभकारी हैं।
  • पूरे एक साल तक इस योजना का लाभ फ्री में मिलेगा।
  • एक साल पूरा होने के बाद नए कनेक्‍शन को लेने पर कुछ निर्धारित मूल्‍य चुकाना होगा।
  • मेथेनॉल ईंधन एलपीजी गैस सिलेंडर की अपेक्षा सस्‍ता पड़ेगा।
  • इस योजना के तहत Cook Stove और मेथेनॉल रखने वाला कनस्‍टर तथा मेथेनॉल कुकिंग ईंधन दिया जाएगा।
  • उत्‍तर प्रदेश में 20 हजार परिवार इस योजना से लाभान्वित होंगे।

What is Methanol In Hindi | मेथेनॉल क्‍या है

  • मेथेनॉल एक स्‍वच्‍छ ईंधन है।
  • यह एक जहरीला पदार्थ है।
  • यह बहुत ही ज्‍वलनशील है।
  • यह एक पारदर्शी द्रव पदार्थ है।
  • इसकी गंध अल्‍कोहल जैसी होती है।
  • इसे कोयला और बायोमॉस, रिसाईकिल कार्बन डाई ऑक्‍साइड, शहरों से निकलने वाला कूड़ा करकट तथा प्राकृतिक गैस से आसानी से हासिल किया जा सकता है।

Methanol Cooking Stove Yojana Me Avedan Kaise Kare

मेथेनॉल कुकिंग स्‍टोव योजना में आवेदन करने के लिये आपको एक नियत एजेंसी के कार्यालय में जाना होगा।

असम में मेथेनॉल गैस कनेक्‍शन असम पेट्रोकेमिकल लिमिटेड इस परियोजना का कार्यान्‍वयन कर रही है।

जो लोग प्रधानमंत्री उज्‍जवला योजना से वंचित रह गये हैं, असम पेट्रोकेमिकल द्धारा नियत एजेंसी के कार्यालय से इस योजना का फार्म लेकर इस योजना में आवेदन कर सकते हैं।

इसके अलावा उत्‍तर प्रदेश में अभी यह योजना लांच नहीं हुई है। इसलिये आपको मेथेनॉल गैस कनेक्‍शन लेने के लिये थोड़ी प्रतीक्षा करनी होगी।

जैसे ही उत्‍तर प्रदेश में यह योजना जनवरी 2019 में लागू होगी तो आपको आवेदन करने का तरीका विस्‍तार पूर्वक बता दिया जाएगा।

Also Read :

Spread the love

2 thoughts on “Methanol Cooking Stove Yojana Me Avedan Kaise Kare | Methanol in Hindi”

  1. अच्छी जानकारी है … सरकारी स्कीम का फायदा कैसे लिया जाए …

    Reply
  2. बहुत उपयोगी जानकारी। इससे अवश्य ही संबंधितों को फायदा होगा।

    Reply

Leave a comment