News Dog Se Paise Kaise Kamaye | Latest News 2019

News Dog Kya Hai in Hindi : यदि आप Make Money के बारे में सोच रहे हैं, तो आपके लिए खुशखबरी है। News Dog India आपके लिए एक We Media Platform लेकर आया है।

News Dog Se Paise Kaise Kanaye In Hindi
न्यूज डॉग की पूरी जानकारी एवं लेटेस्ट अपडेट

News Dog 2019 का यह Platform, Uc Browser के Uc News वी मीडिया प्रोग्राम से मिलता जुलता है। बल्कि सच कहूं तो एक जैसा ही है।

इसलिए जो लोग पहले से Uc News पर काम कर चुके हैं या कर रहे हैं, उन्‍हें News Dog पर काम करने और लिखने में बिल्‍कुल भी परेशानी का अनुभव नहीं होगा।

News Dog पर लिखना और काम करना बहुत ही Aasan hea है। At this time मैं देख रहा हूं कि अधिकांश Hindi ब्‍लॉगर Uc News से बहुत दुखी और हताश हैं।

इसकी वजह यह है, कि Uc News Unique Content लिखने वाले ब्‍लॉगर्स पर भी Low Quality Content लिखने का आरोप लगा कर उनको Income नहीं दे रहा है। कोई मूर्ख ही होगा जो प्रति सप्‍ताह  3 – 4 डॉलर के एवज में अपने कीमती आर्टिकल्‍स उन्‍हें लिख कर देगा।

ऐसी विषम परिस्थितियों में News Dog Hindi राहत भरी खबर लेकर आया है। इससे Hindi Bloggers को News Dog के रूप में अच्‍छा विकल्‍प मिल गया है|

News Dog Kya Hea aur Kaise Kaam Karta Hea : What is News Dog?

News Dog एक News Aggregator App है, जो Hindi, English समेत कुछ अन्‍य Indian Languages को भी सपोर्ट करता है।

इस Hindi News App का विकास और निर्मांण Hong Kong की मशहूर कंपनी Hacker Interstellar Inc के द्धारा किया गया है।

कई मायनों में यह Uc News App से कई गुना ज्‍यादा फास्‍ट और बेहतर है। इस Hindi News App में ब्‍लॉगर्स को अपना चैनल सब्‍सक्राइब करने के लिए ज्‍यादा मशक्‍कत नहीं करनी पड़ती है।

News Dog में एक ऐसा फीचर है, जिसमें आप केवल अपने मनपसंद चैनल का नाम डाल कर सीधे सर्च कर सकते हैं और उसे सब्‍सक्राइब भी कर सकते हैं।

News Dog App गूगल प्‍ले स्‍टोर की News and Magazines Category of India की लिस्‍ट में No. 1 App है। लेकिन अभी इस इस Hindi News App के सिर्फ 10 Million Users ही हैं।

News Dog ने जिस तरह आक्रामक रणनीति, बाजार और हिंदी ब्‍लॉगर्स की नब्‍ज पहचानते हुए अपने Hindi News App के We Media Platform की शुरूआत की है।

उससे लगता है कि वह Uc News की जमीन पर ही खुद को खड़ा करेगा और इसमें सहायता करेंगें Hindi Bloggers जिनको सम्‍मानजनक Income न देकर Uc News ने अपना दुश्‍मन बना लिया है।

आज हालत यह है कि हिंदी ब्‍लॉगर्स Uc News एप्‍प अपने मोबाइल से डिलीट या अनस्‍टॉल कर रहे हैं। यदि Uc News ज्‍यादा मुनाफा कमाने की रणनीति बना सकता है, तो हिंदी ब्‍लागर्स भी उसके बिजनेस के खिलाफ आक्रमक रणनीति बना सकते हैं।

स्‍मार्टफोन से Uc News एप्‍प अनस्‍टॉल करना हिंदी ब्‍लागर्स की इसी रणनीति का एक हिस्‍सा है।

Also Read :

Now You Can Make Money from Hindi Content Industry : Hindi Content Industry Has Been Launch in India 

News Dog App के We Media Platform की शुरूआत होते ही भारत में Hindi Content Industry का आगमन हो चुका है। अब भारतीय ब्‍लॉगर्स अपनी वेबसाइट चलाने के साथ साथ Hindi Content न्‍यूज एप्‍प पर लिख कर paise kma sakte हैं।

जिस तेजी से भारत में Hindi News Apps का आगमन हो रहा है। उससे तो यही लगता है कि अब भारत से हिंदी के बुरे दिन जाने वाले हैं।

जैसा कि आपको पता ही है कि Hindi News Apps का पूरा बिजनेस Hindi Content और विज्ञापन पर ही निर्भर है। News Apps को सबसे ज्‍यादा कंटेंट हिंदी ब्‍लागर्स ही उपलब्‍ध कराते हैं जो मुख्‍य रूप से Articles के रूप में होता है।

यहां ध्‍यान देने वाली बात यह है कि News आधारित पोस्‍ट जल्‍दी पुरानी होकर परिदृश्‍य से गायब हो जाती है। जबकि हिंदी ब्‍लॉगर्स के लिखे Articles कई कई साल तक Outdated नहीं होते हैं।

जिससे News Dog जैसे एप्‍पस को अपना बिजनेस बढ़ाने में बहुत सहायता मिलती है। आने वाले समय में Hindi Content Industry का और अधिक विकास होगा। क्‍योंकि अब एक के बाद एक कई News App आना शुरू हो जाएंगें। इसकी शुरूआत तो हो भी चुकी है।

जो अच्‍छा और ईमानदारी से काम करेगा वही इस बाजार में टिक पाएगा। क्‍योंकि इस इंडस्‍ट्री का पूरा बिजनेस कंटेट और एप्‍प इंस्‍टॉलेशन से भी जुड़ा हुआ है। यदि लोग किसी एप्‍प का विरोध करेंगे, तो उनके मोबाइल में एप्‍प इंस्‍टॉल कराना किसी भी कंपनी के लिए बहुत मुश्किल होगा।

जब Content नहीं होगा और App Install नहीं होंगें तो उनकी कंपनी का बिजनेस भी इंप्रूव्‍ड नहीं होगा। यह मेरी निजी राय है कि इस तरह की कंपनियां ईमानदारी से काम करें और हिंदी ब्‍लागर्स को ईमानदारी से उनकी मेहनत का पैसा दें, तभी हिंदी ब्‍लागर्स इस इंडस्‍ट्री से जुड़े हुई कंपनियों के और उनके बिजनेस इंप्रूव्‍डमेंट के साथी बन पाएंगें।

Hindi Content Industry से जुड़ी हुई कंपनियों को एक बात अच्‍छी तरह समझ लेनी चाहिए कि हिंदी ब्‍लागर्स के साथ छल करके न तो उनका विकास हो सकता है और न ही उनका बिजनेस और मुनाफा बढ़ सकता है।

कहने का मतलब यह है कि कंटेंट राइटर्स और न्‍यूज एप्‍प कंपनियां एक दूसरे की पूरक हैं। धोखा इस बिजनेस के पूरे सिस्‍टम को ही तहस नहस कर सकता है।

Is News Dog Better Then Uc News?

News Dog, यूसी न्‍यूज से बेहतर है या नहीं। इस समय यह ठीक ठीक नहीं कहा जा सकता है। क्‍योंकि इसके We Media Platform को लांच हुए अभी महज 3 दिन ही हुए हैं।

लेकिन एक बात तो साफ हो चुकी है कि Uc News का एक छत्र साम्राज्‍य अब समाप्‍त हो चुका है। News Dog के We Media Platform की आधिकारिक घोषणा होने के साथ ही भारत में प्रतिस्‍पर्धा का युग प्रारंम्‍भ हो चुका है।

अब हिंदी ब्‍लागर्स का शोषण करना किसी भी कंपनी के लिए आसान नहीं होगा। यदि कोई कंपनी शोषण करेगी तो हिंदी ब्‍लागर्स उसका बिजनेस और प्रॉफिट नीचे कर सकते हैं।

यह सच भी है क्‍योंकि हिंदी ब्‍लागर्स कम्‍यूनिटी बहुत बड़ी है। इसमें लाखों नौजवान शामिल हैं। हिंदी ब्‍लागर्स का एक कदम किसी भी कंपनी के मुनाफे पर संकट के बादल मंडरा सकता है।

मैंनें आज अपनी इस पोस्‍ट में जो कुछ भी लिखा उससे Hindi Content Industry के शिखर पर राज करने वाली Uc Browser की Uc News को भारी असुविधा हो सकती है।

लेकिन मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। मैं हिंदी ब्‍लागर्स का शोषण होते हुए नहीं देख सकता हूं। Uc News से जुड़े हुए अधिकारी जब मेरी इस पोस्‍ट को पढ़ेंगें तब उन्‍हें पता चलेगा कि Unique and Original content kya hota hea?

चलिए मैंनें आपको जानकारी और इस इंडस्‍ट्री से जुड़ी हुई आपकी चिंताओं का समाधान तो कर दिया। अब मैं आपको बताता हूं कि News Dog me blog submit kaise karte hea?

News Dog Me Apni Website Submit kare : Step by Step Jankaki Hindi Me

दोस्‍तों, News Dog में Account बनाना बहुत आसान है। इसका पूरा तरीका मैं अपको स्‍टेप बाई स्‍टेप बताने जा रहा हूं, वह भी Hindi Me. आप इसे ध्‍यान से पढ़ें।

Step 1 *

सबसे पहले आप News Dog की आधिकारिक वेबसाइट पर जायें। आप जैसे ही इस साइट पर पहुंचेंगे तो आपको यह पेज दिखाई पड़ेगा।

इस पेज पर आपको तीन Option दिखाई पड़ेंगें। यह 3 विकल्‍प इस प्रकार होंगें Media, Wemedia और Bloggers.

यदि आप सीधे इस पर एकाउंट बनाना चाहते हैं तो आपको We Media पर Click करना होगा। मैं आपको यही सेक्‍शन रिकमंड करने वाला हूं।

आप We Media पर Click करके आगे बढ़ें।

Step 2 *

इसके बाद इस पेज पर पहुंचेंगें। यहां आपको Log In के नीचे दिखाई पड़ रहे। Sign Up With Email पर क्लिक करना है।

आप Sign Up With Email पर क्लिक करके आगे बढ़ें। सहायता के लिए स्‍क्रीन शॉट देखें।

Step 3 *

इस पेज पर आपको Create an Account का ऑप्‍शन दिखाई पड़ेगा। आपको इस ऑप्‍शन में अपनी Email ID भरनी है और एक Strong Password सेट करना है।

इसके बाद पासवर्ड फिर से टाइप करके कन्‍फर्म कीजिए और T&C वाले बॉक्‍स पर क्लिक करके Continue वाले बॉक्‍स पर क्लिक करें।

Step 3 *

इस चरण में आपको Email Verification का ऑप्‍शन नजर आएगा। आप नीचे दिखाई पड़ रहे Check Email पर क्लिक करें।

Step 4 *

Check Email पर क्लिक करते ही आप सीधे अपनी ईमेल आई डी पर पहुंच जाएंगें। वहां आपको News Dog की तरफ आया हुआ एक मेल दिखाई पड़ेगा।

इस मेल में आपको एक लिंक दिखाई देगा। जिस पर क्लिक करके आपको अपना Account Verify कराना है। कहां क्लिक करना है आप स्‍क्रीन शॉट ध्‍यान से देखिए।

Step 5 *

आप जैसे ही लिंक पर क्लिक करेंगें तो फिर से आप News Dog Website पर पहुंच जाएंगें और आपको कुछ इस तरह का पेज दिखाई पड़ेगा। स्‍क्रीन शॉट ध्‍यान से देखें।

यहां आपको Account Information भरनी है। सबसे पहले यहां आप अपने Account के लिए एक लोगो इमेज सेट करें।

इसके बाद आपको News Dog Account Name भरना है। इसके बाद आप क्रमश: अपना नाम और PAN CARD नंबर भरें। ध्‍यान रहे आप जो नाम भर रहे हैं वह PAN CARD पर मौजूद नाम से हूबहू मैच करना चाहिए।

इसके बाद आप अपना मोबाइल नंबर भरें। अब आप क्रमश: अपना पता, शहर का नाम व राज्‍य, पिनकोड नंबर तथा कॉन्‍टेक्‍ट में अपनी ईमेल आईडी भरें।

इतना करने के बाद आपको अपने News Dog Account के अपने पाठकों के लिए कुछ जानकारी लिखनी है। आप डिस्क्रिप्‍शन

लिखने के बाद आपको लाइसेंस से संबंधित बॉक्‍स पर या नीचे दिखाई पड़ रहे छोटे से बॉक्‍स पर क्लिक करना है।

आप जैसे ही यहां क्लिक करेंगें तो आपके सामने एक News Dog Advertising Revenue Sharing Agreement का पेज खुल कर सामने आ जाएगा।

आपको नीचे दिखाई पड़ रहे I Agree नामक बॉक्‍स को सेलेक्‍ट करना है। और आपको Continue पर क्लिक करके आगे बढ़ना है।

Step 6 *

आप जैसे ही I Agree पर क्लिक करने और Continue पर क्लिक करने के बाद आपको कुछ इस तरह का पेज दिखाई देगा।

जो बताएगा कि आपका एकाउंट अब क्रियेट हो चुका है और बस एप्रूव्‍ड होना बाकी है। अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। कुछ घंटों के भीतर ही आपका एकाउंट News Dog की ओर से एप्रूव्‍ड कर दिया जाएगा।

जब आपका एकउंट एप्रूव्‍ड हो जाएगा तो आप इस पर Log In करके अपनी पोस्‍ट डाल सकते हैं। यकीन मानिए आप News Dog से Make Money Online अपना सपना पूरा कर पाएंगें वह भी Hindi News लिख कर।

जैसा कि मैं जानता हूं कि Uc News के रवैये के कारण आपके मन में कुछ चिंताएं भी उमड़ रही होंगीं। जोकि वाजिब भी हैं।

लेकिन मैं आपको बताना चाहता हूं कि मेरी News Dog App का We Media Platform का काम देख रहे News Dog के बड़े अधिकारी श्री संकेत रास्‍कर जी से बात भी हुई है।

उन्‍होंनें आश्‍वस्‍त कराया है कि News Dog हिंदी ब्‍लागर्स के हितों की रक्षा करते हुए काम करेगा और उन्‍हें एक स्थिर Income भी प्रदान करेगा।

उन्‍होंनें मुझसे बस एक ही अपील की है और वह है कि Support me India. इसलिए दोस्‍तों मैं चाहता हूं कि आप ज्‍यादा से ज्‍यादा तादात में News Dog से जुड़ें और लोगों के स्‍मार्टफोन में News Dog App इन्‍स्‍टॉल कराने की मुहिम छेडें।

हो सकता है कि इस प्‍लेटफार्म की बदौलत Hamari Safalta को भी पंख लग जाएं। और News Dog se Make Money का हमारा सपना पूरा हो जाए।

News Dog Se Paise Kaise Kamaye | न्‍यूज डॉग We Media अनिश्‍चित काल के लिये बंद हुआ | Latest Update On 16-10-2019

दोस्‍तों मैं आप सभी को आज News Dog Latest News Update 16-10-2019 दे रहा हूं, कि News Dog We Media प्‍लेटफार्म अब बंद हो गया है।

इस बात की जानकारी स्‍वयं न्‍यूज डॉग ने एक नोटीफिकेशन जारी करते हुए दी है। इस विज्ञप्ति के अनुसार अब 19 नवंबर 2018 से कोई भी वी मीडिया राइटर न्‍यूज डॉग पर अपने आर्टिकल सबमिट नहीं कर पायेगा।

इसके अलावा 21 नवंबर 2018 से न्‍यूज डॉग ऐप पर मौजूद सभी करेंट आर्टिकल प्रदर्शित होना बंद हो जाएंगें। न्‍यूज डॉग के इस आधिकारिक नोटीफिकेशन से भारत के हिंदी वी मीडिया राइटर्स को गहरा झटका लगा है।

आपकी जानकारी के अवगत कराना जरूरी है, कि न्‍यूज डॉग में बड़े बदलाव और उठा पटक का दौर पिछले साल दिसंबर 2017 में ही शुरू हो गया था।

दिसंबर 2017 से मार्च 2018 तक न्‍यूज डॉग के कुछ कर्मचारी जैसे लांगशिन झांग, Dawn, मिनी हान आदि कंपनी छोड़ कर चले गये थे।

इसके बाद न्‍यूज डॉग में वी मीडिया को लेकर पॉलिसी बदलनी शुरू हो गयी थी। जिसका सीधा असर न्‍यूज डॉग के वरिष्‍ठ वी मीडिया राइटर्स पर भी पड़ा था।

News Dog Latest News Update
Latest News Update

न्‍यूज डॉग टॉप 3 वी मीडिया चैनल जिसमें News Desk, वरिष्‍ठ लेखिका कहकशां खान का People Talk तथा दरभंगा बिहार के बेहतरीन वी मीडिया लेखक सेराज खॉन का Social Trend थे।

इन सभी वरिष्‍ठ लेखकों ने न्‍यूज डॉग को अपने आर्टिकल अप्रैल माह से ही देने बंद कर दिये थे। इसका मुख्‍य कारण यह था। फ्रेश कंटेंट देने के बाद भी इस कंपनी से लेखकों को पर्याप्‍त समर्थन और पैसा नहीं मिल रहा था।

दूसरा मुख्‍य कारण यह था कि न्‍यूज डॉग सभी वी मीडिया राइटर्स से अपनी शर्तों पर काम कराना चाहता था। जिसे सभी वरिष्‍ठ लेखकों ने न्‍यूज डॉग के इस तथाकथित प्रयास को सिरे से नकार कर अपनी सेवायें बंद कर दी थीं।

जिसके बाद न्‍यूज डॉग प्‍लेटफार्म पर गुणवत्‍ता युक्‍त आर्टिकल्‍स की भारी कमी देखी गयी थी। इसके अलावा न्‍यूज ऐप पर Fake News और कॉपी पेस्‍ट वाले निम्‍नस्‍तरीय आर्टिकल्‍स की बाढ़ सी आ गई थी।

जिसके परिणाम स्‍वरूप आज हम न्‍यूज डॉग वी मीडिया प्‍लेटफार्म को बंद होते हुए देख रहे हैं। यह सब न्‍यूज डॉग के गलत निर्णयों के चलते ही हुआ है। जिसके पीछे न्‍यूज डॉग में उच्‍च पदों पर आसीन कुछ बड़े अफसर ही जिम्‍मेदार माने जा रहे हैं।

न्‍यूज डॉग के आधिकारिक नोटीफिकेशन में साफ तौर पर इस बात की जानकारी दी गई है। साथ ही यह भी बताया गया है कि जिन लेखकों ने अपना पैसा निकाल लिया है, उन्‍हें समय पर पैसा ट्रांसफर कर दिया जाएगा।

जो लोग निश्चित तिथि तक अपना पैसा नहीं नहीं निकाल पायें हैं, वह अपने एकाउंट में लॉगिन करने में सक्षम होंगें और अगले माह पूर्वनिर्धारित तिथि पर अपना पैसा निकाल पायेंगें।

यह खबर वाकई किसी झटके से कम नहीं है। दूसरों की खबरें प्रकाशित करने वाला ऐप आज खुद ही बुरी खबर में तब्‍दील हो गया है।

न्‍यूज डॉग के कुछ कुछ पूर्व कर्मचारियों के अनुसार यह अनिश्‍चिकत कालीन बंदी पूर्णं बंदी में कभी भी बदल सकती है। इसलिये न्‍यूज डॉग ऐप के पुन: वी मीडिया प्‍लेटफार्म को लेकर लेखकों को बहुत अधिक आशा नहीं रखनी चाहिए।

Spread the love

97 thoughts on “News Dog Se Paise Kaise Kamaye | Latest News 2019”

    • सही कहा अनूप जी आपने, प्रतिस्‍पर्धा हर बुरी चीज को भी बेहतर चीज में बदलने पर मजबूर कर देती है।

      Reply
  1. आजमी जी, UC news के बारे में आपके एक पुराने पोस्ट में मैंने पहले ही उसके बारे में बताया था की कैसे वो हमें नुकसान पहुंचा सकता है… शायद आपने मेरे उस बात पे ध्यान नही दिया होगा… और ये बात तो सही है की हिंदी ब्लॉगर अभी इंडस्ट्री में पैसे कमाने के लिए स्ट्रगल कर रहे है.. बहुत से हिंदी ब्लॉगर खुद के रास्ते को छोड़ के अपना कंटेंट UC News जैसे थर्ड पार्टी को बेंच के पैसा कमाना चाहते है.. जो की मेरे हिसाब से सही नही है.. हम उससे कुछ ज्यादा कर सकते है… मैंने भी बहुत सारे ब्लोग्स को देखे है.. सबका मुआयना करने के बाद मैंने कुछ निष्कर्ष निकले है जिसे मै जल्द ही अपने ब्लॉग में पोस्ट करने वाला हूँ..

    Reply
    • चंदन जी, मैंनें आपकी बात पर बहुत अच्‍छी तरह ध्‍यान दिया था। बल्कि मैंनें आपका एक कमेंट इसी गंभीरता के कारण लंबे वक्‍त तक रोके रखा। क्‍योंकि हर चीज समय पर आनी चाहिए। आपका कहना कई मामलों में सही है। लेकिन हमारे साथ एक समस्‍या है कि पैसा कहां से लाएं? हमारी यही मजबूरी थर्ड पार्टी के पास जाने पर मजबूर कर रही है। वेबसाइट से अभी इनकम शैशवास्‍था में ही है। कुछ तो करना ही होगा। मुझे आपके नए लेख का बेसब्री से इंतजार रहेगा। कुछ और मामले भी है। मैं जल्‍द ही उन मामलों को लेकर आपसे ईमेल पर संपर्क करूंगा।

      Reply
    • भाई, मैं आपसे बिल्‍कुल भी नाराज नहीं हूं। देखिए हम सब एक दूसरे के साथी हैं। इसलिए कभी भी और कुछ भी दिल में नहीं रखना। आजकल थोड़ा बिजी चल रहा था। इसलिए आपके ब्‍लाग पर आना नहीं हाे पाया। होता क्‍या है कि आपका कमेंट लिंक बहुत पुराना होकर पुराने पेजों में जा पहुंचा था। इतने पुराने पेजों तक पहुंचना आसान नहीं होता जब आप क्रम से सभी के ब्‍लाग पर जा रहे हों। जल्‍द आता हूं और आप News Dog पर तुरंत एकाउंट बनाइए। वेबसाइट संचालन के लिए कुछ पैसा मिलता रहेगा।

      Reply
  2. जमशेद जी, आपने बहुत ही अच्छी जानकारी शेयर की है। हिंदी ब्लॉगर्स को निश्चिंत ही इससे फ़ायदा होगा। मैं भी इस पर अकाउंट बनाती हूं।

    Reply
  3. जमशेद जी, News Dog की साईट खोलने पर आपने जो लोगो दिया है वो तो नही आ रहा है। मै ने ये साईट खोली थी “http://newsdog.today/” कृपया साईट का लिंक दीजिए।

    Reply
  4. जमशेद जी newsdog के बारे में भी आपने सभी के लिए काफी बढ़िया और काम की जानकारी दी .
    लेकिन अभी इसमें ब्लॉग की RSS की आप्शन नहीं आई ,लेकिन अगर कोई RSS से लिंक देना चाहे तो इनके साथ एक कॉन्ट्रैक्ट करना पढ़ता है जोकि signed हो और बाद में scan करके इन्हें सेंड कर देना है .
    लेकिन जल्द ही यह online प्लेटफार्म पर भी uc की ही तरह RSS वाली आप्शन लायेंगे .

    मुझे उम्मीद है कि इससे bloggers को शयद नुक्सान न हो ,जैसा कि uc से हो रहा है ,अब तो वह अपनी ही मन-मर्जी करते रहते है . लेकिन अभी newsdog पर व्यूज कम ही मिल रहे है ,लेकिन इतना तो पक्का है कि यह uc को बहुत कड़ी टक्कर देगा और उससे आगे भी निकल सकता है . हाँ लेकिन newsdog वालो को अपना content थोड़ा सुधारने की आवश्यकता है क्यूंकि हिंदी bloggers mainly inspirational या फिर informational articles ही लिखते है और newsdog में थोड़ा बहुत vulgar भी मोजूद है ,जोकि हम जैसे हिंदी bloggers को पसंद न आयेगा

    Reply
    • आपने सही कहा निखिल जी, News Dog is news platform for Hindi bloggers. इसलिए अभी पेज व्‍यूज भी बहुत कम हैं। प्रत्‍येक ब्‍लागर को डेली कम से कम 1 Lakh page views मिलने ही चाहिए। तभी तो वह कुछ इनकम की आशा कर सकते हैं। खैर यह तो News dog को तय करना है कि वह हिंदी ब्‍लागर्स को अपने साथ जोड़े रखना और उनके जरिए कंटेंट हासिल करना चाहता है या नहीं। फिलहाल यह नया है और Uc News का ऑप्‍शन है। इसलिए इसे प्रमोट करने भी आवश्‍यक्‍ता है। वल्‍गर कंटेंट के मामले में आपके साथ हूं। News dog को थोड़ी क्‍वालिटी सुधारनी होगी। इससे हमारे लिए नैतिक झिझक का कारण भी पैदा होता है।

      Reply
  5. धन्यवाद जमशेद जी, इतनी अच्छी जानकारी शेयर करने के लिए… पर मुझे ऐसा लगता है कि हमें अपने पास के फायदे के बारे में न सोंचकर उस काम पर धयान देना चाहिए जिस काम के लिए हमने लिखना शुरू किया था. किसी थर्ड पार्टी के लिए लिखने से हमें तत्काल तो कुछ पैसे मिल जायेंगे.. लेकिन इसमें भविष्य नहीं है…फिर चाहे वो uc news हो या कोई और..

    Reply
  6. बहुत अच्छी जानकारी दी है आपने जमशेद जी !
    परन्तु ये सब article writer को ही shoot करते होंगे शायद……….
    मेरे खयाल से मेरे जैसे कविताओं वाले ब्लॉग कम ही चलते होंगे…..money के बारे में तो सोचना ही क्यों…
    क्या मैं सही हूँ?…..

    Reply
    • हां यह कुछ हद तक सच है। लेकिन साहित्ययिक गतिविधियों से संबंधित पोस्ट, या कविता, कहानी को भी एक अलग कैटेगरी वाले एकाउंट में पब्लिश किया जा सकता है। इस पर कितने पेज व्यूज मिलेंगें यह नहीं बता सकता। कभी कभी तो बहुत ज्यादा मिलते हैं और कभी कम। लेकिन यदि आप एकाउंट बनाती हैं, तो आपको किसी तरह की तकनीकी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा क्योंकि यह प्लेटफार्म ईजी टू यूज हैं। साथ ही आपकी कुछ इनकम भी शुरू हो जाती है।

      Reply
      • जमशेद जी मेरी भी यही समस्या है कि मै तो ज्यादातर कविताएँ ही लिखती हूँ . इसलिए मुझे पैसे कमाने की उम्मीद कम ही लगती है. फिर भी आपकी दी गयी जानकारी पढ़ कर मैंने भी एक अकाउंट खोल ही लिया

        Reply
  7. वाह बहुत अच्छा जानकारी आपने शेयर किया जमशेद जी | इस महत्वपूर्ण जानकारी के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद ||
    सर आपने ये नहीं बताये की इस platfrom पर कोण सब cetegory की आर्टिकल पब्लिश किया जाता है | एक बात और सर आपने तो इसमें अपना अकाउंट बनाना कुछ दिन तो जरुर हो गया | क्या आपको ये वाकई uc news से अच्छा platfrom लग रहा है ?
    क्या इसमें भी uc न्यूज़ की तरह पोस्ट को कुछ देर तक पेंडिंग में रखा जाता है ?

    Reply
    • अजय गुप्ता जी, सबसे पहले तो आपका सादर स्वा‍गत कि आप हमारे रेग्यूलर विजिटर हैं। भाई कल 2 दिन से इंटरनेट कनेक्शन स्लो था इसलिए ठीक से कोई काम नहीं हो पा रहा था। मैं नीचे वाले आपके कमेंट में उत्तर दे रहा हूं। उसे देखिए।

      Reply
  8. रोचक जानकारी
    हिंदी ब्लॉगर्स को निश्चिंत ही इससे फ़ायदा होगा।

    Reply
  9. अक्सर कंपनियाँ किसी भी क्षेत्र में Monopoly होने के नायजाज फायदा उठाने बाज नहीं आती। इसलिए किसी फील्ड में कम से कम एक Competitor होना जरूरी है, जो अपने Impact से पहले वाले कंपनी पर प्रभाव डालता है। जिससे मजबूरन पहले वाले कंपनी को Quality Based काम करना पड़ता है।
    I Hope So, अब UC News सुधार जाए।

    वाकई में लगता है, अब हिन्दी भाषी वालों की तूती बुलेगी, और ऐसा इसलिए हो रहा है, India की Growth Rate दुनियाँ में सबसे ज्यादा है और चीन के बाद सबसे बड़ी मानव संसाधन है, जो भारत को दुनियाँ में सबसे बड़ा उपभोक्ता बनाता है।
    जाहीर है, जहां ज्यादा उपभोक्ता होंगे, कोई भी वहाँ ही अपनी दुकान खोलना चाहेंगे।
    इसलिए दोस्तों, मुझे लगता है, बहुत सी ऐसी कंपनियाँ We Media फील्ड में आने वाली है, जिसकी 6 महीने पहले UC News से हुई थी।
    बस हमें इस बहते गंगा में हाथ धो ही लेना चाहिए।

    Reply
  10. सर आप हमारे सवाल का जवाब नहीं दिए | लेकिन, अब हमें खुद व् खुद हमारे सवालों का जवाब हमें मिल गया |
    लेकिन एक सवाल है | हम इसमें फॉलो कैसे देख सकते हैं की हमें कितना लोगों ने फॉलो किया है ? जेसे की Recomend का आप्शन है | उसमे बहुत अधिक नंबर है लेकिन read कुछ कम है | में recomend का मतलब नहीं समझ सका की ये नंबर जो है क्या है ?

    Reply
    • यह कितना अच्छा प्रोग्राम है यह तो आने वाला वक्त बताएगा। अभी तो हमें सिर्फ इस प्लेटफार्म को आगे ले जाना है। जितना ज्यादा हो सके मोबाइल में न्यूज डॉग एप्प डाउनलोड कराइए। मैं भी करा रहा हूं। यूसी न्यूज का मजबूत प्रतिद्धंदी होना बहुत जरूरी है। नहीं, इसमें फॉलोवर देखने की व्यवस्था नहीं है। जहां तक बात है। जहां तक बात Recomend ऑप्श‍न की बात है, यह ऑप्शन भी हमारे पास नहीं है। मतलब यह कि आपकी पोस्टस पर पूरा नियंत्रण न्यूज डॉग के पास ही है। वह जितना आपकी पोस्ट को Recomend करेगी, उसी के हिसाब से आपके पास व्यूज आएंगें। मसलन उन्होंनें आपकी पोस्ट को 12,000 लोगों को रिकमंड किया और उस पर व्यूज आए 200, आपको आपकी पोस्टं पर 11,800 व्यूज और क्यों नहीं हासिल हुए यह आपको सोचना है।

      Reply
  11. बहुत ही बढ़िया पोस्ट भाई आपकी पोस्ट हमेशा यूनिक होती है बहुत ही बिस्तर से आप सब कुछ समेट कर लेख लिखते हैं ! इस पोस्ट के लिए धन्यवाद आपको !!

    Reply
    • सर, बस ऐसे ही Kanfusi पर कृपा बनाए रखिए। मैं कोशिश करूंगा कि आप सभी को उन बिंदुओं पर टारगेट करके अपनी पोस्ट पब्लिश करूं, जिन बिंदुओं को बहुत सी साइट अनदेखा कर देती हैं।

      Reply
  12. bahut hi kaam kiinformations hai hamare jaise bloggers ke liye me news dog pr apne blog ko submit karta hu.. bahut dino se aap se baat nhi hui thi samay mile to mujhe ek baat call karen,

    Reply
  13. जमशेद जी आपने बहुत ही अच्छी और unique जानकारी दी है। मै भी अपनी Blog न्यूस डॉग मे जरूर सबमिट करूँगा और आप ये बताइए कि इससे हमारी blog पर कोई नेगेटिव असर नहीं पड़ेगा?

    Reply
    • आप News Dog पर अपना ब्लाग स‍बमिट करने के बजाए, उनके प्लेटफार्म पर Wemedia Account Create कीजिए। इससे आपको किसी भी तरह का नुकसान नहीं होगा। आप फाएदे में रहेंगें। मैंनें ऊपर लिंक दिया है। क्लिक करके सीधे एकाउंट बना लीजिए।

      Reply
  14. जमशेद जी आपने बहुत बढिया जानकारी दी हैं । kanafusi की एक बात मुझें बहुत पसंद आती कि आपके द्वारा दी गई जानकारी बहुत ही अच्छी और उपयोगी होती है और समझने मे किसी भी प्रकार की दुविधा नही होती है ।

    Reply
  15. बहुत ही उपयोगी जानकारी ! हालाकि धनोपार्जन की दृष्टि से कविता एवं ग़ज़ल वाले ब्लागर्स के लिए पेज व्यू की सीमा एक बड़ी चुनौती है ! फिर भी निराश होने की जरूरत नहीं है । न्यूज डाग में ब्लाग सम्मिलित करने की कोशिश करूंगा । जानकारी देने के लिए हार्दिक आभार ।

    Reply
  16. अच्छी जानकारी साझा की है आपने जमशेद जी … uc ब्रोउज़र मुझे भी कुछ ख़ास नहीं लगा … पता नहीं उनका मापदंड कैसा है …

    Reply
  17. Sir mere pass pan card nahi hai to kya kisi dusre ka pan number laga sakta hu aur baki details me apni info dal sakta hu kya. Aur payment kaise hogi

    Reply
    • Bhai PANCARD nhi hea to banwa le. Aapki age 18+ hogi banwane me kya problem hea? 30 din ke ander ban kr aa jayega. Ydi aap dusre ka Pancard use karenge to Account bhi usi ke naam se banega, Jiska Pancard hea. Payment Paytm or Direct Bank Transfer ke jariye hoti hea.

      Reply
  18. कानाफूसी की सबसे अच्छी बात ये है की यहाँ पर दूर की कोड़ी आपको सबसे पहले पढ़ने को मिलती है. आप एक पोस्ट से दूसरी पोस्ट में दिन तो लगाते है लेकिन जब नई पोस्ट पब्लिश होती है तब लगता है बेकार में इन्तजार नहीं किया. इसी तरह से जमशेद जी नयी नयी खबरे लाते रहिये. आज न्यूज़ डॉग वाली पोस्ट पढ़कर मुझे उम्मीद लगी है की जो अनुभव uc न्यूज़ के साथ रहा वो इसके साथ ना हो .

    Reply
    • Bhai News Dog nya hea. Fir bhi hum sabka dhayan rakh rha hea. Is App ka sath de. Jyada se jyada News Dod app Install karaye. Aage bahut fayda milega.

      Reply
  19. Pls sir mera news dog ka account apporved nhi huaa krib 48 gante ho gye h kyu kab tak ho jayega….
    Govt jobs news bnaya h reply…..

    Reply
    • आपने गलत किया। किसी कैटेगरी बेस पर एकाउंट न बनाएं। jobs रिलेटिड एकाउंटस पर कॉपीराइटिंग की समस्या आती है। इसलिए इस पर एकाउंट न बनाएं। कोई सादा सा नाम रखें। आप बाद में भी इस एकांउंट नेम में संशोधन कर सकते हैं। लेकिन यह सुविधा फिलहाल काम नहीं कर रही है। आपका एकाउंट जल्दी ही एप्रूव्ड हो जाएगा। थोड़ा धीरज रखिए। फिर भी कोई दिक्कत आती है तो मोबाइल नंबर शेयर करना मैं उन्हें बोल दूंगा। मेरी सलाह मानिए आप अभी एक दूसरा एकाउंट बना लीजिए। किसी दूसरे नाम से। जॉब्स ठीक नहीं है।

      Reply
      • sir mene dusre name se account bna liya h par mere kisi bhi post ko news dog teams post ko publish nhi kr rha h 2-3 days ho gye rojana post krta hu news se releted par publish nhi hoti h pls my contect number

        reply ya contect…..

        Reply
        • इस समस्या के लिए आपको News Dog Team से संपर्क करना होगा। यह समस्या सभी के साथ है।

          Reply
  20. आप ने यह नहीं बताया कि लिस्ट डॉग में मिनिमम पैसे निकालने की लिमिट कितनी है

    Reply
  21. बहुत ही बढ़िया जानकारी दी UC News ने तो सभी को dokha ही दिया है केवल उनके कंटेंट ले कर कुछ भी नहीं दिया शुरू में UC पर पोस्ट डालने वाले बहुत कुछ पैसा चुके थे पर अब Dog News पर देखते हैं की क्या हो सकता है सब अच्छा हो यही दुआ है हमारी

    Reply
  22. जमशेदजी मुझे यह जानना है कि मैंने 4 पोस्ट सबमिट की और उस पर अभी तक 426 read रीड है तो मुझे यह जानना है कि इसके पैसे मेरे अकाउंट में कब तक ऐड होंगे और मुझे यह भी जानना है कि हमें कितने पैसे मिलेंगे यह रीड करने की संख्या पर डिपेंड होता है मतलब हम कितनी भी पोस्ट कर सकते हैं apna reading growth badhane ke liye

    Reply
    • 1000 views pr 10-12 Rs milte hean. Post ki quality badhayi aur unse sampark kijiye. Haan roz 5 post likhiye. purani post bhi views deti hean

      Reply
  23. मैंने आपसे दो बार पूछा पर आपने मुझे बताया नहीं मुझे यह जानना है कि अभी मेरे ब्लॉग में 2000 रीड हो चुके हैं तो इसके पैसे मेरे चैनल के अकाउंट में कब तक ऐड होंगे

    Reply
  24. जमशेदजी मैंने यह दुनिया कुछ पोस्ट लिखी थी जिस पर आज मंगलवार है तो आज 20000 न्यूज़ आए थे पर मेरी इनकम सिर्फ ₹125 ही हुई क्या न्यू स्टॉक मीडिया कॉपी आर्टिकल लिखने पर भी पैसे काटता है

    Reply
  25. जमशेद जी मैने आज ही अपना एकाउंट बनाया।
    लेकिन एकाउंट एप्रुव्ड नही हुआ। मैने एकाउंट नाम हिन्दी मे डाला था।
    क्या अब मैं उसी पैन कार्ड और मोबाईल नंबर डालकर फिर से नया एकाउंट बना सकता हुँ।
    जबाव जरूर दिजिएगा।
    धन्यबाद

    Reply
  26. ऐसा कुछ कीजिए uc न्यूज इंडिया सें भाग जाएगी जो इंडिया के लोगों को बेवकूफ नहीं बना पाए और जो बेवकूफ बनाए उसे बेइज्जत करके बताओ

    Reply
  27. मेरे न्यूज़डॉग अकाउंट पर 15 पोस्ट पेंडिंग हैं लेकिन पब्लिक नहीं हो रही है प्लीज बताओ

    Reply
  28. jamsedji mujhe ek problem aa gayi hai maine mera pan card no galat daal diya tha Jo mujhe das din ke baad pata chala.aur ab mere khaate me 866 rupay bhi hai to kya mai mera pan card no badal sakta hu..pls help me

    Reply
  29. जमशेद जी प्लीज मेरी मदद कीजिए मेरा एक सवाल है जो मैंने बहुत जगह पूछा पर सही जवाब नहीं आया मुझे यह जानना है कि जब मैंने न्यूज़ डॉग भी मीडिया अकाउंट बनाया था मैंने मेरे पापा का पैन कार्ड नंबर दिया था पर अब 10 दिन के बाद मुझे यह पता चला कि मैंने जो पैन कार्ड नंबर डाला था वह गलत है तो मुझे यह जानना है के न्यूज़ डॉग से बैंक में पैसे लेने पर ही पैन कार्ड की जरूरत पड़ती है या फिर Paytm में भी पैनकार्ड मांगते हैं जैसे अगर मान लो कि मैंने मेरे paytm में पैसे चाहता हूं तो भी क्या पैनकार्ड की जरूरत होगी मतलब कि अगर पान कार्ड गलत है तो भी क्या मैं मेरे पेटीएम अकाउंट में पैसे ले सकता हूं

    Reply
  30. सर मेरी न्यूज़ डॉग पोस्ट को दो लाख लोग देख चुके हैं पेमेंट ट्रांसफर कैसे करना है Paytm में, आप किसी न्यूज़ डाँग अधिकारी का कांटेक्ट नंबर मुझे दे दीजिए, किस तारीख को पेमेंट ट्रांसफर किया जाता है कब तक पेमेंट ट्रांसफर हो जाता है

    Reply
  31. Sar newsdog वाले अधिकारियों का कांटेक्ट नंबर दीजिए आपकी बहुत कृपा होगी मैं newsdog से बहुत परेशान हूं मेरी इनकम कंट्रोल नहीं हो रही है

    Reply
  32. जमशेदजी पिछले कुछ दिनों से मुझे एक प्रॉब्लम हो रही है मैं जब भी मेरा आर्टिकल सबमिट कर रहा हूं तो न्यूज़ डॉग वाले मेरा आर्टिकल फेल कर देते हैं वह कहते हैं कि पिक्चर डिस्क्रिप्शन ऐड करो पर मुझे नहीं पता की पिक्चर डिस्क्रिप्शन क्या होता है क्या आप बताएंगे की पिक्चर डिस्क्रिप्शन क्या होता है उदाहरण सहित ……मेरे 3 दिन से कोई भी आर्टिकल पोस्ट नहीं हो पाया है

    Reply
  33. Dosto maine apna account news dog par banaya lekin email par koi link nahi aaya aur mai tabse bahut pareshan hu koi link abhi tak nahi aaya

    Reply
  34. Sir ak post pending me kb tk rhta h smjh ni aata kl se pending me h 6-7 post or ak post to 5 din se pending me h jb usko edit kiya to submit ni hota or cannot change status likh jata h ab ky kru hr chij usme change krke dekh dala

    Reply
  35. सर मेरे अकाउंट में कुल ₹8000 थे और न्यूज़ डॉग वालों ने मेरा अकाउंट को भी वार्निंग देकर बंद कर दिया मेरी सारी मेहनत पानी में चली गई क्या कोई रास्ता है इस समय मेरा अकाउंट वापस चालू करवा सकूं

    Reply
  36. New dogवालो ने मेरा खाता निलंबित कर दिया है अब मैं क्या करूं उस में मैंने दो तीन लिंक कोपी राईट कर दिया था

    Reply
  37. Sir description main kya dalte hain sir mujhe reply karo newsdog Mein Khata Banaya Maine Pehle Lekin रद्द ho gaya hai क्योंकि मैंने डिस्क्रिप्शन में कुछ लिखा लेकिन बहुत छोटा था इसलिए मुझे रिजेक्ट कर दिया प्लीज कोई डिस्क्रिप्शन बताइए न्यूज़ डॉग में खाता बनाने के लिए

    Reply
  38. Kya apna blog ko news dog par submit kiya ja sakta hai jo pahle hi articles likhaa hua hai… Taki unn post ko Iss news app par read kiya ja sake..

    Reply
    • youtube ki mujhe jankari nhi hea, Mene ise use nhi kiya hea. Lekin Website pr adsense lagane ke baad 10$ hone ke baad hi PIN ghar pr aata hea.

      Reply
    • माही सेन जी, आपकी वेबसाइट मूल रूप से न्यूूज आधारित है। ध्यान रखें कि न्यूल सेक्टर में गूगल कॉरपोरेट घरानों तथा कंपनियों को ही प्रमुखता देता है। इसके अलावा न्यूज जल्दी पुरानी भी हो जाती है। बहुत कम समाचार ऐसे होते हैं, जिन्हें कोई 2 दिन के बाद सर्च करके पढ़ता है।
      बेहतर होगा कि आप किसी अच्छे टॉपिक पर साइट सेट अप करें और लिखते समय Kaywords और SEO का भी ध्यान रखें। आपको गूगल सर्च से अच्छा रिजल्ट मिलने लगेगा।

      Reply
      • थैंक्यू सर आपने मुझे एक अच्छा रास्ता बताया में आपका आभारी रहूँगा सर

        Reply
  39. maine ek din pahle hi account create krne ki koshish ki, lekin mere gmail pr ab tak verification code nahi aaya hain jisse main newsdog pr account nahi bna pa raha hu..

    Reply
      • रवि कुमार जी News Dog वी मीडिया प्रोग्राम बंद किया जा चुका है। इसलिये आपके पास अभी तक किसी प्रकार का कोई मेल नहीं आया है।

        Reply
          • इस कंपनी के बड़े अधिकारी मुझसे संपर्क में रहे हैं, उनसे मेरी इस संबंध में बातचीत हुई थी। उनका अब वी मीडिया आने वाले कुछ सालों में चालू करने का कोई इरादा नहीं है।

Leave a comment