PM Shri Yojana क्या‍ है – पीएम श्री योजना 2022 से कितने बदल जायेगें सरकारी स्कूल

PM Shri Yojana in Hindi : देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विगत 5 सितंबर 2022 (शिक्षक दिवस) को पीएम श्री योजना शुरू करने की विधिवत घोषणा की है। इस नयी योजना के लांच होने के बाद देश के 14500 सरकारी स्‍कूलों की शक्‍ल व सूरत पूरी तरह बदलने वाली है।

उन्‍होंने शिक्षक दिवस के मौके पर राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार प्राप्‍त शिक्षकों से संवाद करने के दौरान नई PM Shri Yojana की शुरूआत की। उन्‍होंनें कार्यक्रम में इस बात की जानकारी दी कि प्रधानमंत्री स्‍कूल्‍स फॉर राइजिंग इंडिया योजना कैसे देश भर के सरकारी स्‍कूलों में शोध उन्‍मुख, ज्ञान आधारित शिक्षण व्‍यवस्‍था की नींव रखने जा रही है।

पीएम श्री योजना को केंद्रीय कैबिनेट की मंजूरी मिल चुकी है और अब भारत सरकार का शिक्षा मंत्रालय इस योजना को अमली जामा पहनाने की कवायद में जोर शोर से जुट गया है। आने वाले दिनों में पूरे देश में इस योजना का प्रभाव हम सभी को देखने को मिलेगा।

आज की इस योजना में प्रधानमंत्री श्री योजना | PM Shri Schools | PM Shri Scheme | Pradhanmantri Shri Yojana | PM Shri 2022 | पीएम श्री योजना आवेदन आदि के विषय में पूरी जानकारी विस्‍तार से देने जा रहे हैं। इसलिये इसे ध्‍यान पूर्वक पढ़ें।

PM Shri Yojana क्‍या है – पीएम श्री योजना 2022 की पूरी जानकारी

PM SHRI Yojana PM Shri Yojana Hindi Me Eligibility Criteria for Prime Minister Schools for Rising India
प्रधामंत्री मोदी की पीएम श्री योजना हिंदी में

What is PM Shri Yojana in Hindi : पीएम श्री योजना को देश भर के सरकारी स्‍कूलों के विकास के लिये लांच किया गया है। फिलहाल इस योजना के दायरे में कुल 14 हजार 500 स्‍कूलों को शामिल किया जा रहा है। यदि पीएम श्री प्रोजेक्‍ट सफल रहता है, तो आने वाले कुछ सालों में योजना में अधिक स्‍कूलों को शामिल कर लिया जायेगा।

Pradhan Mantri Schools for Rising India सीधे तौर पर सरकारी स्‍कूलों के लिये लाई गयी है। शिक्षा जगत के कुछ विद्धानों का मानना है कि इस योजना को दिल्‍ली के केजरीवाल मॉडल के स्‍कूलों को टक्‍कर देने के मकसद से इसे लांच किया गया है क्‍योंकि दिल्‍ली के केजरीवाल मॉडल के स्‍कूलों की चर्चा देश विदेश में जोर शोर से हो रही है।

पीएम श्री योजना के तहत खुलने वाले स्‍कूलों को आदर्श स्‍कूलों के रूप में विकसित किया जायेगा। इसके अलावा देश में पहले से संचालित सरकारी स्‍कूलों को भी इस योजना के दायरे में लाया जा सकता है। कुल मिला कर इस प्रकार के सभी स्‍कूल राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति ( NEP) की अवधारणा पर काम करेंगें।

PM Shri Yojana Main Highlights

योजना का नाम – प्रधानमंत्री स्‍कूल फॉर राइजिंग इंडिया – पीएम श्री योजना

योजना का कार्यक्षेत्र – संपूर्णं भारतवर्ष

किसने लांच की – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने

कब लागू हुई – 5 सितंबर 2022

योजना का क्रियान्‍वयन – शिक्षा मंत्रालय के द्धारा

योजना के लाभार्थी – देश भर के सरकारी स्‍कूल

आधिकारिक वेबसाइट – यहां पर क्लिक करें

PM Shri Yojana में विद्धालयों का चयन किस तरह होगा

Prime Minister Schools for Rising India योजना के तहत सरकारी स्‍कूलों को मॉडल स्‍कूल के रूप में विकसित किया जाना है। इसलिये प्रत्‍येक ब्‍लॉक के 2 सरकारी स्‍कूलों को योजना के तहत चयनित किया जायेगा। इनमें से एक स्‍कूल प्राइमरी स्‍टैंडर्ड व दूसरा सेकेंडरी / सीनियर सेकेंडरी स्‍तर का होगा।

प्रत्‍येक च‍यनित विद्धालय को अपग्रेड करने के लिये केंद्र सरकार अपने स्‍तर पर अनुदान राशि निर्गत करेगी। इस धनराशि के उपयोग से चयनित स्‍कूल में अपग्रेडेशन कार्य कराये जायेंगें। ताकि वह स्‍कूल एक मॉडल स्‍कूल के रूप में विकसित हो सके।

पीएम श्री योजना की विशेषतायें

  • पीएम श्री योजना के तहत चुने गये सभी स्‍कूलों को नई राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति के तहत संचालित किया जायेगा।
  • वर्ष 2022-23 में कुल 14,597 स्‍कूलों का चयन इस योजना के तहत किया जायेगा।
  • इस योजना को 5 वर्ष यानि 2022-2027 के लिये लागू किया गया है। जिसके लिये 27,360 करोड़ रूपये का धन आवंटित किया गया है।
  • इस योजना के तहत केंद्र की हिस्‍सेदारी 18,128 करोड़ रूपये की होगी। बाकी खर्च संबंधित राज्‍य सरकारों को करना होगा।
  • जो सरकारी स्‍कूल इस योजना से जुड़ना चाहते हैं, उन्‍हें अपना आवेदन ऑनलाइन मोड में पोर्टल पर करना होगा। यह पोर्टल वर्ष में 4 बार ओपन किया जायेगा।

प्रधानमंत्री श्री योजना 2022 के मुख्‍य लाभ क्‍या हैं

  • PM Shri Yojana के तहत चयनित होने वाले विद्धालय में प्राइमरी से लेकर 12वीं कक्षा तक की शिक्षा मुफत में प्रदान की जायेगी।
  • इन विद्धालयों में शिक्षा प्रदान करने का तरीका आधुनिक एवं परिवर्तनकारी होगा।
  • इन स्‍कूलों में शोध उन्‍मुख व ज्ञान आधारित शिक्षण पर जोर दिया जायेगा।
  • इन विद्धालयों में पढ़ाई के लिये नवीनतम तकनीक का इस्‍तेमाल किया जायेगा।
  • पीएम श्री स्‍कूल्‍स के क्‍लासरूम आधुनिक / स्‍मार्ट व डिजिटल होंगे।
  • इन विद्धालयों में पढ़ने वाले लाखों छात्रों को बेहतर शिक्षा वयवस्‍था हासिल होगी।
  • इन विद्धालयो में खेल कूद आदि के लिये अच्‍छा मैदान मौजूद होगा।
  • इन स्‍कूलों में स्‍वच्‍छ पेयजल की व्‍यवस्‍था अनिवार्य रूप से मौजूद होगी।
  • इन स्‍कूलों में साफ सुथरे शौचालय बच्‍चों व शिक्षकों के लिये होंगें।
  • इन स्‍कूलों के भवनों की साज सज्‍जा व रंग रोगन आधुनिक पद्धति से किया जाना अनिवार्य होगा।
  • चयनित विद्धालयों में अत्‍याधुनिक प्रयोगशालाओं की स्‍थापना अनिवार्य रूप से की जायेगी। जहां बच्‍चों को वैज्ञानिक प्रयोग करने की सुविधा हासिल होगी।

प्राइम मिनिस्‍टर स्‍कूल फॉर राइजिंग इंडिया के तहत स्‍कूलों की पात्रता

Eligibility for PM Shree Scheme : पीएम श्री योजना के तहत केवल उन्‍हीं विद्धालयों का चयन किया जायेगा। जो योजना के लिये निर्धारित गाइडलाइन के बिंदुओं को पूरा करते होंगे। जिनमें कुछ बिंदु आपकी सुविधा के लिये नीचे दिये जा रहे हैं।

  • आवेदित स्‍कूल के पास खुद का भवन होना जरूरी है।
  • इन स्‍कूलों में पर्याप्‍त कक्ष संख्‍या होनी अनिवार्य है।
  • आवेदन करने वाले स्‍कूल में पुस्‍तकालय (लाइब्रेरी) होनी चाहिये।
  • स्‍कूल में पहले शौचालय का होना अनिवार्य है।
  • स्‍कूल में पहले से शिक्षकों की पर्याप्‍त संख्‍या होनी जरूरी है।
  • आवेदित स्‍कूल में पढ़ने वाले बच्‍चों की संख्‍या अच्‍छी होनी चाहिये।
  • आवेदन करने वाले स्‍कूल के पास खुद का खेल का मैदान होना जरूरी है।
  • लड़कियों व लड़कों के लिये अलग अलग शौचालय का होना अनिवार्य है।
  • दिव्‍यांग बच्‍चों के लिये सुविधायें पहले से मौजूद होनी जरूरी हैं।

PM SHRI YOJANA के तहत चयनित स्‍कूल को कितना पैसा दिया जायेगा?

जो स्‍कूल प्रधानमंत्री श्री योजना के तहत चयनित किये जायेंगें, उन्‍हें पांच साल में 2 करोड़ रूपये का अनुदान इस योजना के तहत दिया जायेगा।

पीएम श्री योजना में आवेदन किस पोर्टल के जरिये किया जायेगा?

केंद्र सरकार ने इस बात को स्‍पष्‍ट कर दिया है कि योजना के तहत आवेदन ऑनलाइन मोड में निर्धारित पोर्टल के जरिये किया जायेगा। फिलहाल यह पोर्टल अभी लांच नहीं किया गया है। लेकिन जल्‍दी ही इसे लांच कर दिया जायेगा यह पोर्टल प्रति तिमाही 4 बार ओपन होगा।

FAQ – पीएम श्री योजना से संबंधित ऐसे सवाल जो आपके लिये उपयोगी साबित होंगें

PM Shri Yojana पर अमल किस वर्ष से शुरू होगा?

पीएम श्री योजना पर अमल विधिवत रूप से 2022-23 से शुरू हो गया है।

यह योजना फिलहाल कितने वर्षों के लिये लागू की गयी है?

यह योजना 2022-27 तक के लिये लागू की गयी है। जो विद्धालय इस योजना के तहत चुने जायेंगे उन्‍हें इसका लाभ अगले 5 साल तक निर्बाध रूप से मिलता रहेगा।

केजरीवाल मॉडल स्‍कूल और पीएम श्री मॉडल स्‍कूल में से कौन बेहतर है?

केजरीवाल मॉडल स्‍कूल अपनी उपयोगिता साबित साबित करके दिखा चुके हैं जबकि प्रधानमंत्री श्री योजना 2022 योजना के तहत चयनित स्‍कूलों को अपनी उपयोगिता व आधुनिक शिक्षा सेवाओं को छात्र-छात्राओं की उम्‍मीदों पर खरा उतरना बाकी है।

पीएम श्री गाइडलाइंस डाउनलोड कैसे करें?

इस योजना से संबंधित गाइडलाइंस जल्‍द जारी कर दी जायेगी। जिसे डाउनलोड करने का लिंक हम आपको इसी स्‍थान पर उपलब्‍ध करायेंगें।

क्‍या योजना के तहत च‍यनित स्‍कूलों की निगरानी केंद्र सरकार अपने स्‍तर पर करेगी?

जी हां, जो विद्धालय PM Shri Scheme के तहत चुने जायेंगें उनकी निगरानी भारतीय शिक्षा मंत्रालय व शैक्षिक ऐजेंसियां अपने स्‍तर पर करेंगीं।

क्‍या योजना के तहत स्‍कूलों की जियो टैगिंग अनिवार्य होगी?

जी हां, प्रधानमंत्री स्‍कूल फॉर रा‍इजिंग इंडिया के तहत चयनित स्‍कूलों की जियो टैगिंग अनिवार्य रूप से की जायेगी।

PM Shri Scheme के तहत बच्‍चों को Computer Labs की सुविधा प्राप्‍त होगी?

जी हां, इन स्‍कूलों में कंप्‍यूटर की पढ़ाई अनिवार्य रूप से कराई जायेगी तथा स्‍कूलों में कंप्‍यूटर लैब बनाना जरूरी होगा।

पीएम श्री स्‍कीम के तहत स्‍कूलों का ऑडिट कौन करेगा?

योजना के तहत चयनित स्‍कूलों के दावों का ऑडिट राज्‍य, केंद्र शासित प्रदेश, केवीएस, जेएनवी आदि के जरिये किया जायेगा।

तो दोस्‍तों यह थी हमारी आज की योजना PM Shri Yojana Kya Hai – पीएम श्री योजना 2022 से कितने बदल जायेगें सरकारी स्कूल यदि आप PM Shri Scheme Apply Online के बारे में कोई अन्‍य प्रश्‍न पूछना चाहते हैं तो आप हमसें कमेंट बॉक्‍स के जरिये पूछ सकते हैं।

Spread the love

1 thought on “PM Shri Yojana क्या‍ है – पीएम श्री योजना 2022 से कितने बदल जायेगें सरकारी स्कूल”

  1. पीएम मोदी और केजरीवाल के बीच होगी शिक्षा नीतियों पर स्पर्धा

    Reply

Leave a comment