Prepaid Smart Meter Yojana Kya Hai – स्मार्ट प्रीपेड मीटर कैसे लगवायें

Finance Minister Nirmala Sitaraman Announced Prepaid Smart Meter Yojana : वित्‍तीय वर्ष 2020-21 के लिये केंद्रीय बजट देश की Finance Minister Nirmala Sitaraman के द्धारा पेश कर दिया। वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने इस बजट के दौरान देश के नागरिकों के लिये कई नई योजनाओं को शुरू करने की घोषणा की है।

इन्‍हीं में से एक योजना Prepaid Smart Meter Yojana है। प्रीपेड स्‍मार्ट मीटर योजना 2020 को लांच करते हुये वित्‍त मंत्री ने कहा कि पूरे देश में अगले 3 सालों के दौरान सभी परंपरागत बिजली मीटरों को पूरी तरह बदल दिया जाएगा।

नये Smart Meter पूरी तरह Prepaid प्रणाली पर काम करेंगें। अर्थात आप अपने घर में लगे मीटर को जितना पैसा देकर रिचार्ज करायेंगें, उतनी ही बिजली आपको मिलेगी। यानि पहले पैसा दो फिर बिजली पाओ नीति की शुरूआत अब भारत में हो चुकी है।

Prepaid Smart Meter Yojana Kya Hai? प्रीपेड मी‍टर योजना कब से प्रभावी होगी?

बजट 2020 तीन साल में लगा लें स्मार्ट बिजली मीटर, कंपनी और कीमत चुनने की आजादी मिलेगी Prepaid Smart Meter Yojana के तहत – वित्तमंत्री निर्मला सीतारमन का Big Announcement

What is Prepaid Smart Meter Scheme in Hindi : जैसा आप सब जानते हैं कि देश की वित्‍तमंत्री निर्मला सीतारमण ने Budget 2020 के दौरान स्‍मार्ट प्रीपेड मीटर योजना की शुरूआत की है।

इस योजना के तहत पूरे देश में लगे हुये सभी पुराने मीटरों को चरणबद्ध तरीके से हटा दिया जाएगा। सरकार की योजना अगले 3 साल में Conventional Electricity Meters को पूरी तरह Best Smart Prepaid Meters से बदलने की है।

इसके लिये केंद्र सरकार ने वर्ष 2020-21 के बजट में नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र के लिये 22,000 करोड़ रूपये आवंटित किये हैं। Prepaid Smart Meter Yojana के तहत सरकार देश के हर घर से पुराना बिजली मीटर हटा कर नया प्रीपेड मीटर लगा देगी।

इसके अलावा स्‍मार्ट प्रीपेड मीटर योजना 2020 के तहत बिजली उपभोक्‍ताओं को अपनी मर्जी से Electricity Suppliers चुनने की आज़ादी भी देगी। अर्थात आप जिस कंपनी से से बिजली लेना चाहते हैं, उस कंपनी की बिजली आपको मिलेगी।

क्‍या Prepaid Smart Meter Yojana के तहत नया मीटर लगवाना Compulsory होगा?

Is Prepaid Smart Meter Compulsory? जी हां, दोस्‍तों, अब आपको Prepaid Smart Meter Yojana के तहत नये प्रीपेड मीटर लगवाना अनिवार्य होगा। क्‍योंकि नयी योजना लागू हो जाने के बाद पुराने बिजली मीटरों को पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया गया है।

स्‍मार्ट प्रीपेड मी‍टर योजना पहले से ही देश के कुछ आधुनिक शहरों में लागू है। जिसे पूरी तरह सफल माना गया है। जिन स्‍थानों पर प्रीपेड मीटर लगे हुये हैं। वहां बिजली कंपनियां बिजली बिल के बकाये से परेशान नहीं हैं।

Also Read :

Smart Prepaid Meter Yojana वर्तमान में कहां लागू है?

हम आपकी जानकारी के लिये बता देना चाहते हैं, कि वर्तमान में स्‍मार्ट प्रीपेड मीटर प्रणाली नोएडा के औद्धोगिक इलाके में लागू है। लेकिन अब Smart Prepaid Meter Yojana के दायरे में घरेलू बिजली उपभोक्‍ता भी आ जाएंगें। अब दिल्‍ली हो या हरियाणा, एमपी हो या यूपी सभी राज्‍यों में प्रीपेड मीटर ही लगाये जाएंगें।

स्‍मार्ट प्रीपेड मीटर बनवाने पर सरकार को कितनी Cost चुकानी होगी?

वर्ष 2017 में केंद्र सरकार ने 50 लाख प्रीपेड मीटर का आर्डर दिया था। जिसमें प्रति मीटर 2,503 रूपये की Cost आई थी।

लेकिन अब पूरे भारत में स्‍मार्ट प्रीपेड मीटर लगाये जाएंगें, इसलिये आर्डर भी बड़ा होगा। भारत सरकार के द्धारा दिया जाने वाला सबसे बड़ा आर्डर करीब 30 करोड़ मीटर का होगा। इसलिये सरकार ने नये प्रीपेड मीटर की अनुमानित लागत 2000 रूपये यानि 29$ प्रति मीटर रखी है।

प्रीपेड मीटर के लाभ क्‍या हैं?

  • प्रीपेड मीटर लग जाने के बाद भारत में बिजली चोरी होना बंद हो जाएगी।
  • उपभोक्‍ताओं को बिना किसी रूकावट के 24 घंटे बिजली मिल सकेगी।
  • लोगों के द्धारा कटिया आदि डालने की आदत पूरी तरह खत्‍म हो जाएगी।
  • आप जितना पैसे देकर अपना मीटर रिचार्ज करायेंगें, उतनी ही बिजली आपको मिलेगी।
  • पैसा खत्‍म होते ही मीटर आपके घर की बिजली सप्‍लाई तुरंत बंद कर देगा।
  • मीटर रिचार्ज करते ही मीटर घर के अंदर बिजली की सप्‍लाई चालू कर देगा।

स्‍मार्ट प्रीपेट मीटर के नुकसान

  • Budget के तहत घोषित की गयी नयी Prepaid Smart Meter Yojana के तहत जो मीटर लगाये जाएंगें, उनके चलने की गति पहले से कहीं अधिक तेज होने की संभावना है। ऐसे में उपभोक्‍ताओं पर अनावश्‍यक पैसे का बोझ पड़ सकता है।
  • वर्तमान में जिस प्रकार के बिजली अभी देश में लगाये गये हैं, वह बहुत तेज गति से भागते हैं, इसलिये बिजली उपभोक्‍ताओं में बहुत अधिक रोष देखा जा रहा है।
  • सामान्‍य घरेलू बिजली उपभोक्‍ता अपने घरों से बिजली का लोड कम कर रहे हैं, इसके बावजूद बिजली के बिल का बोझ दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है। ऐसे में नये प्रीपेड मीटर की गति को लेकर लोगों के मन में संदेह पैदा हो गया है। जिसे सरकार और बिजली कंपनियां ही गुणवत्‍ता युक्‍त बिजली मीटर लगा कर दूर कर सकती हैं।
  • लोगों को बिना रिचार्ज कराये बिजली नहीं मिल सकेगी, फिर चाहे उपभोक्‍ता कितनी ही प्रतिकूल परिस्थिति में क्‍यों न हो।

Prepaid Smart Meter Yojana के तहत अपने घर में Prepaid Smart Meter कैसे लगवायें?

प्रीपेड स्‍मार्ट मीटर आपके राज्‍य तथा शहर में बिजली विभाग के द्धारा ही लगाये जाएंगें। जब पुराने बिजली मीटर बदलने की प्रक्रिया शुरू होगी, तो बिजली विभाग के कर्मचारी नया मीटर लेकर आएंगें और आपसे पैसा लेकर नया Prepaid Smart Meter लगा देंगें।

यदि आप स्‍वयं Application देकर अपने घर में Prepaid Smart Meter Yojana के तहत मीटर बदलवाना चाहते हैं, तो आपको अपने नजदीकी बिजली अभियंता के कार्यालय में जाना होगा। जहां आपके प्रार्थना पत्र के आधार पर आपके घर में नया प्रीपेड मीटर लगा दिया जाएगा।

तो दोस्‍तों यह थी हमारी आज की पोस्‍ट Prepaid Smart Meter Yojana Kya Hai यदि आप Smart Prepaid Meter Scheme in Hindi से संबंधित कोई अन्‍य प्रश्‍न पूछना चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट बॉक्‍स के जरिये पूछ सकते हैं।

Spread the love

1 thought on “Prepaid Smart Meter Yojana Kya Hai – स्मार्ट प्रीपेड मीटर कैसे लगवायें”

  1. 2020-21 के केंद्रीय सरकार का बजट पेश करते हुये वित्त मंत्री ने देश के हर सेक्टर को निजी हाथों में सोपने का संकेत दिया है। बिजली भी उसी दिशा में प्राइवेट कंपनियों में सोंप दी जायेगी। सरकार सिर्फ प्राइवेट कंपनियों की सुरक्षा का काम करेगी। अच्छी खबर देकर सरकार की योजना का खुलासा किया।बधाई

    Reply

Leave a comment