Uttar Pradesh Sanskrit Sansthan Se Sarkari Sahayta Kaise Paye

Uttar Pradesh Sanskrit Sansthan 2020 | upsanskritsansthanam.in | Sanskrit Anudan | Sanskrit Grant For School and College | उत्‍तरप्रदेश संस्‍कृत संस्‍थानम | UP Sanskrit Sansthan |

उत्‍तर प्रदेश में Sanskrit Sansthan संस्‍कृत भाषा के प्रचार प्रसार के लिये बहुत सी योजनायें संचालित कर रहा है। Uttar Pradesh Sanskrit Sansthan के द्धारा संचालित इन योजनाओं का लाभ व्‍यक्तिगत स्‍तर से लेकर स्‍वयंसेवी संस्‍थाओं को तक भी पहुंचाया जाता है।

भारत में संस्‍कृत भाषा और संस्‍कृत की शिक्षा को जन जन तक पहुंचाना ही उत्‍तर प्रदेश संस्‍कृत संस्‍थान का एकमात्र उद्देश्य है।

भारत में संस्‍कृत और उर्दू 2 ऐसी भाषाएं हैं, जिन पर लुप्‍त होने का खतरा मंडरा रहा है। यही कारण है, कि इन दोनों ही भाषाओं के प्रचार प्रसार और शिक्षा के लिये सरकार की तमाम गवर्निंग बॉडी अनेक योजनायें चला रही हैं।

इसी क्रम में उत्‍तर प्रदेश संस्‍कृत संस्‍थान भी बड़े पैमाने पर संस्‍कृत भाषा के उत्‍थान के नये वित्‍त वर्ष 2020-21 के लिये अनुदान हेतु आवेदन पत्र आमंत्रित करने जा रहा है।

जिसके लिये उसने प्रदेश के कई समाचार पत्रों में अपने विज्ञापन जारी कर दिये हैं, चलिये अब जानते हैं, कि आखिर वह कौन कौन सी योजनायें हैं, जिनके लिये संस्‍कृत संस्‍थान की ओर से सरकारी अनुदान दिया जाता है।

Uttar Pradesh Sanskrit Sansthan Grant for Jyotish / Purohit / Computer Centre / Yoga Centre

Uttar Pradesh Sanskrit Sansthan Se Sarkari Sahayta Kaise Paye Detail in Hindi
संस्कृत संस्थानों के लिये अनुदान योजनायें

उत्‍तर प्रदेश संस्‍कृत संस्‍थान, लखनऊ के द्धारा नये वित्‍तीय वर्ष 2020-21 के लिये प्रदेश के सभी आवासीय संस्‍कृत महाविद्धालयों तथा गुरूकुलों से अनुदान के लिये आवेदन पत्र आमंत्रित किये हैं।

इस योजना के तहत Jyotish / Purohit / Computer Centre / Yoga Centre गुरूकुलों तथा आवासीय महाविद्धालयों में स्‍थापित किये जाएगें।

जिसके लिये Uttar Pradesh Sanskrit Sansthan ज्‍योतिष, पुरोहित, कंप्‍यूटर सेंटर तथा योगा केंद्रों की स्‍थापना करने वाले संस्‍थानों को सरकरी अनुदान प्रदान किया जाएगा।

यदि आप इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो आप आवेदन कर सकते हैं। आवेदन की यह प्रक्रिया पूरी तरह ऑनलाइन होगी।

इस योजना में ऑनलाइन आवेदन करने का समय 02 अप्रैल 2019 से 01 जून 2019 निर्धारित किया गया है।

Uttar Pradesh Sanskrit Sansthan Grant for Civil Seva and Coaching

उत्‍तर प्रदेश संस्‍कृत संस्‍थान लखनऊ ने प्रदेश के महाविद्धालयों तथा विश्‍वविद्धालयों से छात्रों के लिये सिविल सेवा मार्गदर्शन तथा कोचिंग सेंटर की स्‍थापना के लिये आवेदन पत्र आमंत्रित किये हैं।

वित्‍त वर्ष 2019-20 के लिये Sanskrit Sansthan के द्धारा विज्ञापन जारी कर दिया गया है। इस योजना के तहत जो भी संस्‍थायें महाविद्धालय तथा विश्‍वविद्धालय संचालित कर रही हैं।

उन्‍हें अपने कैंपस में सिविल सेवा मार्गदर्शन केंद्र तथा कोचिंग सेंटर खोलने के लिये सरकारी अनुदान दिये जाने की योजना है।

इस योजना में आवेदन 02 अप्रैल 2019 से 01 जून 2019 तक ऑनलाइन मोड में किये जाएंगे।

उत्‍तर प्रदेश संस्‍कृत संस्‍थान Grant for Computer / Computer Furniture / Steel Almirah / Library books

Uttar Pradesh Sanskrit Sansthan ने एक अन्‍य विज्ञापन जारी करके प्रदेश के सभी आवासीय संस्‍कृत स्‍कूलों से अनुदान के लिये आवेदन पत्र आमंत्रित किये हैं।

संस्‍कृत संस्‍थान के द्धारा यह अनुदान संस्‍कृत स्‍कूलों को कंप्‍यूटर खरीदने, कंप्‍यूटर फर्नीचर तथा लाइब्रेरी के लिये किताबों की खरीद के लिये प्रदान किया जाएगा।

वर्ष 2019-20 के लिये आवेदन पत्र 02 अप्रैल 2019 से लेकर 01 जून 2019 तक ऑनलाइन तरीके से भरे जा सकते हैं।

इस योजना के तहत केवल ऐसे संस्‍कृत विद्धालयों को अनुदान दिया जाएगा। जहां कम से कम 50 छात्र छात्रायें पंजीकृत होंगे।

इसके अलावा अनुदान के लिये चयन प्रत्‍येक मंडल से एक – एक विद्धालय का किया जाएगा। मतलब एक मंडल से एक ही विद्धालय को सरकारी सहायता प्रदान की जाएगी।

उत्‍तर प्रदेश संस्‍कृत संस्‍थान Grant for Students

इसके अलावा उत्‍तर प्रदेश संस्‍थान नये वित्‍त वर्ष के लिये प्रदेश के संस्‍कृत भाषा में शिक्षा अध्‍ययन कर रहे छात्रों के लिये छात्रवृत्ति के लिये भी आवेदन पत्र आमंत्रित कर चुका है।

यह छात्रवृत्ति उन छात्र छात्राओं को प्रदान की जाएगी, जिन्‍होंनें संस्‍कृत विषय के साथ इंटरमीडिएट की परीक्षा कम से कम 60% अंकों के साथ उत्‍तीर्ण की हो।

उत्‍तर प्रदेश माध्‍यमिक शिक्षा परिषद, इलाहाबाद से संस्‍कृत विषय के साथ परीक्षा उत्‍तीर्ण करने वाले छात्रों को 2000 रूपये वार्षिक छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी।

इसके अतिरिक्‍त पूर्व मध्‍यमा प्रथम तथा द्धितीय को 5000 रूपये वार्षिक छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। वही उत्‍तर मध्‍यमा प्रथम एवं द्धितीय को 6000 रूपये वार्षिक छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी।

इस छात्रवृत्ति के लिये आवेदन पत्र माध्‍यमिक संस्‍कृत शिक्षा परिषद के वर्ष 2018-19 के रिजल्‍ट घोषित होने के बाद भरे जा सकेंगें।

इस योजना के तहत छात्रवृत्ति मिलने का आधार श्रेष्‍ठता पर पर आधारित होगा। जिसके ज्‍यादा अंक होंगे, वही इस छात्रवृत्ति योजना के लिये पात्र माना जाएगा।

Also Read :

Spread the love

Leave a comment