Video KYC Kaise Karaye – वीडियो केवाईसी क्या है?

What is Video KYC in Hindi : जैसा कि हम सब जानते हैं, कि आज के समय में भारत समेत दुनिया के हर देश के नागरिक को KYC की प्रक्रिया पूरी करनी पड़ती है।

असल में अमेरिका के कानून Foreign Account Tax Compliance Act (FATCA) के कारण पूरी दुनिया के देशों को नागरिकों को अपनी केवाईसी देना जरूरी होता है।

चूंकि अमेरिका ऐसे किसी देश के साथ अपने व्‍यापारिक रिश्‍ते कायम नहीं रखता है। जिसने Foreign Account Tax Compliance Act (FATCA) के तहत उसके साथ समझौता न किया हो।

अमेरिका के इस कानून का मकसद दुनिया के किसी भी देश के नागरिक के बारे में इस बात की जानकारी हासिल करना है, कि कहीं उस व्‍यक्ति की किसी अमेरिकी नागरिक अथवा Financial Institutions के प्रति किसी प्रकार की कोई देनदारी तो बकाया नहीं है।

यही कारण है कि भारत समेत पूरी दुनिया में KYC की प्रक्रिया कराई जाती है। लेकिन भारत में केवाईसी कराना एक बहुत बड़ा सिर दर्द है। इसका कारण है कि बैंक, म्‍यूचुअल फंडस, पेटीएम, Insurance सेक्‍टर के द्धारा केवाईसी के नाम पर बार बार लोगों से दस्‍तावेज मांगे जाते हैं।

जिसकी वजह से लोगों में बहुत आक्रोश रहता है। लोगों को अपना लेनदेन बाधित होने से रोकने के लिये बैंकों इत्‍यादि के चक्‍कर लगाने पड़ते हैं।

इसी बात को मददेनजर रखते हुये अब RBI वर्ष 2020 से एक ऐसी व्‍यवस्‍था लांच करने जा रहा है। जिसके जरिये लोग अपनी केवाईसी घर बैठे ही घर कर पायेंगें और वह भी बहुत आसान तरीके से। इस केवाईसी को Video KYC के नाम से जाना जाएगा।

दोस्‍तों इसलिये आज हम आपको इस पोस्‍ट में Video KYC Kya Hai और Video KYC Kaise Kare के बारे में नवीनतम जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। आशा करते हैं कि यह जानकारी आपके लिये फायदेमंद साबित होगी।

Video KYC Kya Hai in Hindi : 2020 में वीडियो केवाईसी में वीडियो की भूमिका क्‍या होगी?

Google Duo अथवा Whatsapp के द्धारा Video KYC की प्रक्रिया नहीं की जा सकती है। इसके अलावा बैंकों अथवा वित्तीय संस्थानों को अपनी Applications तथा वेबसाइट पर वीडियो केवाईसी प्रक्रिया शुरू करने से पहले Link करना भी जरूरी होगा।

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने वर्ष 2020 से Video KYC की व्‍यवस्‍था कर दी है। इसके लिये रिजर्वव बैंक ऑफ इंडिया ने अपनी KYC Master Guidelines में संशोधन किया है।

RBI KYC Master Guidelines 2020 के संशोधन संबंध में एक Notification भी जारी किया गया है। इस नो‍टीफिकेशन के मु‍ताबिक वीडियो आधारित Customer Identification Process (VCIP) ग्राहक अनु‍मति आधारित Optional व्‍यवस्‍था के रूप में पेश किया है।

यानि ग्राहक चाहे तो वह घर बैठे ही Video KYC की अनुमति प्रदान करके, केवाईसी की प्रक्रिया को पूरी कर सकता है।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि Video KYC की प्रक्रिया अभी दुनिया के कुछ गिने चुनें देशों में ही मौजूद है। लेकिन जिस प्रकार आरबीआई ने अपनी गाइडलाइन में संशोधन करके भारत में लागू किया है। उससे बैंकिंग सेक्‍टर, बीमा क्षेत्र तथा म्‍यूचुअल फंडों से जुड़े भारतीय ग्राहकों को बड़ी सुविधा होने जा रही है।

Video KYC के लिये ग्राहकों की मंजूरी लेना जरूरी होगा या नहीं?

दोस्‍तों, जैसा कि मैंने आपको बताया कि भारत में 2020 से केवाईसी की प्रक्रिया पूरी तरह बदलने जा रही है। आने वाले समय में वीडियो के माध्‍यम से केवाईसी कराना सबसे आसान होगा।

लेकिन इसके लिये कोई भी वित्‍तीय संस्‍थान आपको Video KYC कराने के लिये जबरन बाध्‍य नहीं कर सकता है।

आरबीआई की नई गाइडलाइन में इस बात का स्‍पष्‍ट उल्‍लेख है, कि Video KYC के लिये ग्राहक की अनुमति लेना आवश्‍यक होगा। बिना ग्राहक की मंजूरी के वीडियो केवाईसी संभव नहीं होगी।

Also Read :

आरबीआई ने 2020 में Video KYC की व्‍यवस्‍था लागू करने का फैसला क्‍यों किया?

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को KYC तथा CKYC की प्रक्रिया के तहत होने वाली असुविधा के चलते लोगों में पनप रहे आक्रोश के बारे में अच्‍छी तरह पता है।

आ‍रबीआई जानता है, कि भारत में लोग केवाईसी की बार बार होने वाली प्रक्रिया से खुश नहीं हैं। यही कारण है कि भारतीय रिजर्व बैंक ने केवाईसी की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिये बड़ी पहल की है।

KYC की पुरानी प्रक्रिया के तहत लगने वाले समय और बढ़ती लागत से आरबीआई बहुत परेशान है। यही कारण है कि उसने Video KYC की प्रणाली को लागू करने का बड़ा फैसला किया है।

वीडियो केवाईसी कौन कौन से Financial Institutions करा सकेंगें?

वीडियो केवाईसी की प्रक्रिया को करने के लिये निम्‍न Financial Institutions को अनुमति प्रदान की गयी है।

  • बैंक
  • भुगतान वॉलेट
  • गैर बैंकिग कंपनिया
  • म्‍यूचुअल फंडस
  • बीमा कंपनिया, आदि

वीडियो केवाईसी का वीडियो सुरक्षित करने के लिये क्‍या नियम है?

जैसा कि हम समझ चुके हैं कि वीडियो केवाईसी ग्राहकों के साथ साथ बैंकों तथा तमाम वित्‍तीय संस्‍थानों को बड़ा फायदा होने जा रहा है।

इस पूरी प्रक्रिया में KYC के डिजीटल चैनल्‍स का फायदा भी मिल सकेगा। जिसके बाद नियामकीय संस्‍थाओं की जिम्‍मेदारी बढ़ जाएगी।

इसलिये नियामकीय संस्‍थाओं को जिम्‍मे‍दारी पूर्वक यह सुनिश्‍चित करना अनिवार्य होगा कि वीडियो रिकॉर्डिंग को पूरी तरह सुरक्षित रखा जाए। इस नियम का उल्‍लेख नई केवाईसी गाइडलाइन में मौजूद है।

नई वीडियो केवाईसी प्रोसेस के लाभ

  • वित्‍तीय संस्‍थानों (Financial Institutions) के ऐसे ग्राहक जो दूरदराज अथवा दुर्गम इलाकों में रहते हैं, उन्‍हें अब बैंक समेत अन्‍य संस्‍थानों में केवाईसी कराने के‍ लिये नहीं जाना पड़ेगा।
  • Video KYC का सबसे बड़ा लाभ दिव्‍यांगों को मिलेगा क्‍योंकि उन्‍हें बैंक तक आने जाने में बहुत असुविधाओं का सामना करना पड़ता था।
  • वीडियो केवाईसी की प्रक्रिया के लिये प्रशिक्षित अधिकारियों की नियुक्ति की जाएगी। जिसमें पेशोवरों की मदत भी वित्‍तीय संस्‍थानों को लेनी पड़ सकती है।
  • मोबाइल वॉलेट की KYC पर लगने वाले शुल्‍क से ग्राहकों को मुक्ति मिल जाएगी।
  • ऐसे ग्राहक जो लोन के लिये आवेदन करने वाले हैं, उन्‍हें भी वीडियो केवाईसी की सुविधा प्राप्‍त होगी।

Video KYC Kaise Karaye – वीडियो केवाईसी कैसे करें

Video KYC Kaise Hogi in Hindi : दोस्‍तों हम इस पोस्‍ट के ऊपरी हिस्‍से में वीडियो केवाईसी के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर चुके हैं। चलिये अब जानते हैं कि आखिर वीडियो केवाईसी कैसे होगी?

Video KYC की यह प्रक्रिया मोबाइल वीडियो के जरिये की जाएगी। इसके लिये वित्‍तीय संस्‍थानों के अधिकारी दूर दराज तथा दुर्गम इलाकों में रहने वाले इलाकों में रहने वाले अपने ग्राहकों से पैन कार्ड, आधार कार्ड तथा कुछ अन्‍य सवाल जवाबों के द्धारा ग्राहक की पहचान करेंगें।

इसके अलावा ग्राहक को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि वह वीडियो केवाईसी की प्रक्रिया के समय देश में ही उपस्थित है।

इसके लिये वित्‍तीय संस्‍थान ग्राहक की जियो लोकेशन को कैप्‍चर करेंगें। इस वीडियो कॉल को बैंक डोमेन से ही किया जा सकेगा। अन्‍य किसी तरीके का RBI KYC Master Guidelines 2020 में उल्‍लेख नहीं है।

Google Duo अथवा Whatsapp के द्धारा Video KYC की प्रक्रिया नहीं की जा सकती है। इसके अलावा बैंकों अथवा वित्‍तीय संस्‍थानों को अपनी Applications तथा वेबसाइट पर वीडियो केवाईसी प्रक्रिया शुरू करने से पहले Link करना भी जरूरी होगा।

इसलिये आपको बैंक अथवा वित्‍तीय संस्‍थानों की मोबाइल एप्‍लीकेशन अथवा वेबसाइट पर मौजूद लिंक पर क्लिक करना होगा और फिर वीडियो केवाईसी करने के लिये अपनी सहमति प्रदान ही करनी होगी। इसके बाद वीडियो कॉल के जरिये बैंक अधिकारी आपकी केवाईसी वीडियो कॉल के जरिये कर लेगें।

तो दोस्‍तों यह थी हमारी आज की पोस्‍ट Video KYC Kya Hai और Video KYC Kaise Kare यदि आप Video KYC in India in Hindi के संबंध में और अधिक जानकारी पाना चाहते हैं, तो आप हमसे कमेंट बॉक्‍स के जरिये हम से पूछ सकते हैं।

हमारी इन नयी पोस्ट को भी जरूर पढ़ें



Spread the love

2 thoughts on “Video KYC Kaise Karaye – वीडियो केवाईसी क्या है?”

  1. महत्वपूर्ण जानकारी दी,आपको आभार, आपको शुभकामनाएं

    Reply

Leave a comment