Ustad Yojana Se Government Grant Kaise Paye

पिछले आर्टिकल में मैंने आपको Ustad Yojana के बारे में जानकारी दी थी। आज मैं आपको यह बताउंगा कि Ustad Yojana से संबंधित Project Implementing Agencies (PIA) बन कर Government Grant कैसे पाई जा सकती है।

Ustad Yojana Se Government Grant Kaise Paye Hindi Me
उस्ताद योजना से सरकारी सहायता कैसे पायें

यदि आप देश के किसी भी हिस्‍से में कोई Society अथवा ट्रस्‍ट चला रहे हैं, तो आप सरकार की Skill Development Scheme for minorities का हिस्‍सा बन कर Ustad Yojana की Project Implementing Agencies (PIA) बन कर 20 लाख रूपये तक की Government Grant पा सकते हैं।

लेकिन इससे पहले कि आप Sarkari Anudan हासिल करने का मन बनायें, उससे पहले आपको यह अवश्‍य पता होना चाहिए कि Ustad Yojana kya hea और इस योजना के तहत Project Implementing Agencies (PIA) को क्‍या काम करने पड़ते हैं।

असल में Ustad Yojana को भारत सरकार की Ministry of minority affairs ने देश के अल्‍पसंख्‍यक समुदाय के उत्‍थान के लिये लागू किया है।

इस योजना के तहत अल्‍पसंख्‍यक समुदाय के लोगों को पारंपरिक कलाओं व शिल्‍पकारी के विकास हेतू कौशल विकास एवं प्रशिक्षण आदि अंजाम दिया जाता है। इस योजना को जन जन तक पहुंचाने का काम चुनी हुईं Project Implementing Agencies (PIA) ही करती हैं।

Ustad Yojana Project Implementing Agencies (PIA) Se Government Grant Kaise Paye

यदि आप कोई समाजसेवी संस्‍थान या फिर कोई रजिस्‍टर्ड सोसाइटी / ट्रस्‍ट चला रहे हैं और आपकी सोसाइटी अथवा ट्रस्‍ट के काम का दायरा रोजगार, प्रशिक्षण और समाज में मौजूद निर्धन तबके को प्रशिक्षण एंव रोजगार के माध्‍यम से आर्थिक स्‍तर को बढ़ाना है, तो आप Ministry of minority affairs के द्धारा संचालित उस्‍ताद योजना के जरिये Government Grant पा सकते हैं।

अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्रालय के द्धारा आपके NGO को 20 लाख रूपये तक का फंड मिल सकता है। लेकिन आपको Ustad Yojana Project Implementing Agencies (PIA) बन कर अल्‍पसंख्‍यक समुदाय के लोगों को पारंपरिक कलाओं एवं शिल्‍प के क्षेत्र में प्रशिक्षित करना होगा।

How to Apply for Grants, Project Implementing Agencies ke liye apply kaise kare

आपको Ustad Yojana के तहत Government Grant तभी मिल सकती है। जब आपकी सोसाइटी Minority Affairs मंत्रालय में अपना आवेदन Online/Offline प्रस्‍तुत करेगी।

Ustad Yojana Project Implementing Agencies (PIA) हासिल करने के लिये अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्रालय के अधिकृत पोर्टल पर Online आवेदन करने की कोई सीधी व्‍यवस्‍था नहीं है।

मंत्रालय की वेबसाइट पर साफ तौर पर बताया गया है, कि कोई भी सोसाइटी इस योजना में तभी Online आवेदन कर सकती है। जब पोर्टल पर Online आवेदन मांगे गए हों।

इसलिये Ustad Yojana Project Implementing Agencies (PIA) पाने के लिये सोसाइटी व ट्रस्‍टों कों Offline आवेदन करना होगा। लेकिन कोई भी सोसाइटी तभी Ministry of Minority Affairs में तभी अपना आवेदन ऑफलाइन प्रस्‍तुत कर सकती है। जब इसके लिये आवेदन मंत्रालय के द्धारा मांगें गए हों।

Government Grant के लिये अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्रालय आवेदन कैसे मांगता है

Government Grant स्‍वयंसेवी संस्‍थाओं को प्रदान करने के मकसद से Ustad Yojana Project Implementing Agencies (PIA) से संबंधित विज्ञापन Ministry of Minority Affairs के द्धारा देश भर के प्रमुख समाचार पत्रों में विज्ञापन प्रकाशित करवा कर एजेंसी खोलने के लिये आवेदन मांगे जाते हैं।

जिसके बाद आप Ustad Yojana Project Implementing Agencies (PIA) के लिये Apply कर सकते हैं और Government Grant पा सकते हैं। बस आपको तय समय के अंदर अपना आवेदन अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्रालय में विचार के लिये प्रस्‍तुत करना होता है।

Ustad Yojana Project Implementing Agencies (PIA) के निर्धारित काम

एक बार जब Ministry of Minority Affairs आपकी सोसाइटी को Ustad Yojana Project Implementing Agencies (PIA) घोषित कर देती है। जिसके बाद आपको सालाना 20 लाख रूपये तक की Government Grant हासिल होती है।

Government Grant सीधे सोसाइटी के Bank Account में ट्रांसफर की जाती है। Government Grant मिल जाने के बाद Project Implementing Agencies (PIA) ज्ञान भागीदार और अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्रालय क साथ मिल कर। अपने कार्यक्षेत्र में Minorites के लिये Skill Development Programme चलाती है और नौजवानों को पारंपरिक कलाओं व शिल्‍पों के विकास के लिये Kaushal Vikas / Ustad Yojana / Skill India Programme के तहत प्रशिक्षण प्रदान करती है।

साथ ही Ustad Yojana Project Implementing Agencies (PIA) को समय समय पर प्रशिक्षित किये हुए लोगों के लिये Hunar Haat तथा Ustad Shilp Utsav का आयोजन करती है। जिससे प्रशिक्षण पाये लोगों को अपने पारंपरिक उत्‍पाद एंव शिल्‍प को बाजार में प्रस्‍तुत करने का एक बढ़ा अवसर मिलता है।

Ministry of Minority Affairs से चुनी हुई Ustad Yojana Project Implementing Agencies (PIA) को जो Government Grant मिलती है। उसका एक हिस्‍सा हुनर हाट व उस्‍ताद शिल्‍प उत्‍सव को आयोजित कराने में खर्च होता है।

इसके अतिरिक्‍त Government Grant पारंपरिक कलाओं – शिल्‍पों के विकास हेतू कौशल विकास एवं प्रशिक्षण में खर्च होती है। इस योजना के तहत गैर आवासीय प्रशिक्षणर्थियों को प्रति व्‍यक्ति अधिकतम 10,000 रूपये खर्च किये जाते हैं। साथ ही प्रति प्रशिक्षणार्थी 3000 Rs Ustad Yojana Sclorship दी जाती है। लेकिन इस मद में संबंधित Ustad Yojana Project Implementing Agencies (PIA) 5 लाख रूपये से ज्‍यादा खर्च नहीं कर सकती है।

Ustad yojana Government Grant पाने के लिये सोसाइटी / ट्रस्‍ट के लिये जरूरी पात्रता

किसी भी सोसाइटी अथवा ट्रस्‍ट को Ustad yojana Government Grant तभी प्राप्‍त हो सकती है, जब उसके पास जरूरी अवसंरचना मौजूद हो।

1* जो सोसाइटी Ustad Yojana Project Implementing Agencies (PIA) बनना चाहती है, उसके पास उपयुक्‍त भवन व उसमें पर्याप्‍त कमरे होना आवश्‍यक हैं।

2* इसके अलावा प्रयोगात्‍मक गतिविधियों के लिये हॉल का होना आवश्‍यक है।

3* पुरूष व महिलाओं के लिये अलग अलग प्रसाधन व्‍यवस्‍था होना अनिवार्य है।

4* Government Grant पाने के लिये संस्‍था के पास खुद का अथवा किराये का भवन होना आवश्‍यक है।

5* Skill India Programme में मशीनों के जरिये भी प्रशिक्षण दिया जाता है। इसलिये भवन में मशीनें लगाने के लिये भी पर्याप्‍त स्‍थान होना चाहिए।

6* यदि कोई पाठयक्रम अवासीय है, तो संस्‍था के पास बालक व बालिकाओं के लिये अलग अलग छात्रावास होना आवश्‍यक है।

7* इसके अलावा बालिकाओं के छात्रावास पर सुरक्षा व्‍यवस्‍था होना बहुत ही आवश्‍यक है।

8* Project Implementing Agencies (PIA) बनने के लिये संस्‍था का सोसाइटी अधिनियम के तहत पंजीकृत होना आवश्‍यक है और आवेदन करने वाली संस्‍था कम से कम 3 वर्ष पुरानी जरूर होनी चाहिए।

संस्‍था को Ustad Yojana Project Implementing Agencies (PIA) बनने पर Government Grant कैसे प्राप्‍त होगी

एक बार जब संस्‍था का प्रस्‍ताव अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्रालय के द्धारा स्‍वीकार कर लिया जाएगा तो संस्‍था Project Implementing Agencies (PIA) की लिस्‍ट में शामिल कर ली जाएगी। जिसके बाद संस्‍था को Government Grant सीधे बैंक खाते में मिलना शुरू होगी।

Ministry of Minority Affairs के द्धारा स्‍वीकृत Government Grant संस्‍था को 3 किस्‍तों में उपलब्‍ध कराई जाएगी।

1* प्रथम किस्‍त – संस्‍था को परियोजना की 30 प्रतिशत रकम प्रथम किस्‍त के रूप में प्राप्‍त होगी। लेकिन Government Grant की यह राशि परियोजना के अनुमोदन, अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्रालय के द्धारा राज्‍य सरकार की निरीक्षण रिपोर्ट मिल जाने के बाद ही बैंक खाते में ट्रांसफर होगी।

2* दूसरी किस्‍त – जब संस्‍था पहले मिल चुकी Government Grant का 60 प्रतिशत हिस्‍सा खर्च कर लेगी। तब उसे दूसरी किस्‍त जारी की जाएगी। लेकिन यह किस्‍त परियोजना लागत का 50 प्रतिशत होगी।

लेकिन इस किस्‍त को हासिल करने के लिये Project Implementing Agencies (PIA) के पास पहली किस्‍त के 60 प्रतिशत उपयोग के दस्‍तावेज तथा लेखा परीक्षक रिपोर्ट होना आवश्‍यक है।

इसके अलावा Project Implementing Agencies (PIA) के द्धारा प्रशिक्षणार्थियों के प्रदान किये गए वजीफे की राशि से संबंधित दस्‍तावेज तथा वजीफा लाभार्थियों के बैंक खाता विवरण के दस्‍तावेज प्रस्‍तुत करने आवश्‍यक हैं।

संस्‍था को दूसरी किस्‍त जारी करने से पूर्व अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्रालय / राज्‍य सरकार तीसरे पक्ष से निरीक्षण रिपोर्ट मांगती है। उसकी संस्‍तुति के बाद ही संस्‍था को परियोजना की 50% Government Grant हासिल होगी।

3* तीसरी किस्‍त – यह Ustad yojana Government Grant की अंतिम किस्‍त होती है। यह संस्‍था को परियोजना लागत के बचे हुए 20 प्रतिशत हिस्‍से के रूप में प्राप्‍त होगी।

अंतिम किस्‍त तभी संस्‍था को प्राप्‍त होगी जब मंत्रालय के द्धारा निर्धारित कार्य योजना पूर्णं होने की रिपोर्ट जारी की जाती है।

इसके अतिरिक्‍त लेखा परीक्षित उपयोग प्रमाणपत्र प्रस्‍तुत करने के अलावा अन्‍य सभी दस्‍तावेजों की जांच के बाद ही संस्‍था को दी गई Government Grant का सदुपयोग तय होता है और दस्‍तावेज सही पाये जाने के बाद Ustad Yojana Skill Development Programme को पूर्णं मान लिया जाता है और NGO Grant की अंतिम किस्‍त भी संस्‍था के बैंक खाते में ट्रांसफर कर दी जाती है।

इसे भी पढ़ें :

Image Courtesy : Google, Labeled for Reuse & MOMA.GOV and Pixabay free Images

Spread the love

4 thoughts on “Ustad Yojana Se Government Grant Kaise Paye”

  1. आपने हमारी पसंदीदा वेबसाइट kanafusi पर सरकारी जानकारी को शेयर करने का काम शुरुआत किया जो काफी लाभदायक है।

    Reply
  2. Dear Sir/ Madam,

    My Name Is Simon Dainal James Pinto. I Am Running Simon Vandana Samaj Seva Sanstha. P[s Advaice Me.
    Wating For Your Answer. Mob No;9179997775
    Simon Dainal James Pinto

    Reply

Leave a comment