Deendayal Gramodyog Rojgar Yojana Me Avedan Kaise Kare | Gandhi Jayanti SPL

Uttar Pradesh Pandit Deendayal Gramodyog Rojgar Yojana | Khadi Gramodyog Rozgar Yojana | UP Khadi Tatha Gramodyog Board | Deendayal Gramodyog Rojgar Yojana PDF Form |

Uttar Pradesh Pandit Deendayal Gramodyog Rojgar Yojana
खादी एवं ग्रामोद्धोग योजना

Gandhi Jayanti के अवसर पर हम आपको Khadi Yojana के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। खादी गांधी जी का सबसे पसंदीदा वस्‍त्र भी रहा है।

उत्‍तर प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद खादी तथा ग्रामोद्धोग बोर्ड ने पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय के नाम से एक बहुत ही आकर्षक योजना लांच की है।

इस योजना के तहत प्रदेश के पढ़े लिखे बेरोजगार नौजवान अपने लिये खुद का स्‍वरोजगार हासिल कर सकते हैं। इस योजना का नाम Uttar Pradesh Pandit Deendayal Gramodyog Rojgar Yojana है।

Deendayal Gramodyog Rojgar Yojana के तहत उत्‍तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में लघु उद्धोग ईकाई स्‍थापित करने के लिये सरकारी सहायता प्रदान की जाती है।

इस योजना के तहत व्‍यक्तिगत उद्धमियों को गावों में औद्धोगिक ईकाई लगाने के लिये 25 लाख रूपये तक की परियोजना लागत वाले प्रोजेक्‍ट पर बैंकों से Loan तथा अनुदान भी प्रदान किया जाता है।

इस योजना के तहत चुने गये लाभार्थियों को बैंकों के द्धारा पूंजीगत लोन दिया जाता है। साथ ही 50 प्रतिशत अनुदान भी दिया जाता है।

योजना के तहत अनुदान की अधिकतम राशि 5 लाख रूपये होती है। लाभार्थी को युनिट स्‍थापित करने के लिये बाकी पैसा बैंक ऋण तथा अपने स्‍तर से जुटाना होता है।

Deendayal Gramodyog Rojgar Yojana से संबंधित कुछ जरूरी नियम

  • इस योजना के तहत कोई भी ग्रामोद्धोग ईकाई गावों में अथवा टाउन एरिया में ही लगाई जा सकती हैं।
  • गांव अथवा टाउन एरिया में लगने वाली ईकाई की परियोजना लागत 25 लाख रूपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय ग्रामोउद्धोग योजना के तहत मिलने वाला पूंजीगत अनुदान केवल नई स्‍थापित होने वाली ईकाईयों को ही प्रदान किया जाता है।
  • पूर्व में स्‍थापित हो चुकीं पुरानी ईकाईयां इस योजना के लिये किसी भी सूरत में पात्र नहीं होंगी।
  • इस योजना के तहत ईकाई लगाने जा रही व्‍यक्ति को कुल परियोजना लागत का 5 प्रतिशत भार स्‍वयं वहन करना होगा।

Deendayal Gramodyog Rojgar Yojana Anudan Kaise Milega

दीनदयाल ग्रामोउद्धोग रोजगार योजना के तहत अनुदान आपको तब प्राप्‍त होगा, जब आपकी परियोजना खादी ग्रामोउद्धोग बोर्ड के द्धारा चयनित कर ली जाएगी।

परियोजना स्‍वीकृत होने के बाद बैंक लोन की प्रथम किस्‍त आपके बैंक खाते में ट्रांसफर करेगा। लोन की पहली किस्‍त जैसे ही आपके बैंक खाते में आएगी, आपको वैसे ही आपको यह राशि लघु उद्धोग ईकाई के निर्मांण पर खर्च करनी होगी।

लोन की राशि खर्च करने पर आपको अनुदान दिये जाने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। लेकिन अनुदान पाने के लिये आपको 3 प्रमुख शर्तें अनिवार्य रूप से पूरी करनी होंगी।

  • आप ऋण राशि का सिर्फ और सिर्फ सदुपयोग करेंगें
  • ऋण राशि का आपके द्धारा उपयोग परियोजना के अनुसार ही किया गया हो
  • आपके द्धारा स्‍थापित ईकाई से उत्‍पादन अथवा कोई सेवा विधिवत रूप से प्रदान की जा रही हो

Deendayal Gramodyog Rojgar Yojana के तहत ईकाई स्‍थापित करने से पहले प्रशिक्षण

यदि आप इस योजना में आवेदन करते हैं और आपका चयन हो जाता है, तो आपको खादी एवं ग्रामोद्धोग विभाग द्धारा आपकी परियोजना से संबंधित प्रशिक्षण भी प्रदान किया जाएगा।

आप इस प्रशिक्षण के हकदार उस समय होंगे। जब बैंक आपकी परियोजना के लिये ऋण की स्‍वीकृति प्रदान कर देता है।

इस प्रशिक्षण की अवधि केवल 7 दिन की होगी और यह जिला खादी ग्रामोद्धोग अधिकारी की ओर से मंडलीय ग्रामोद्धोग प्रशिक्षण केंद्र के प्राचार्य के द्धारा प्रदान किया जाएगा।

प्रशिक्षण लेने के बाद आप अपनी ईकाई में Best ढंग से काम कर पायेंगें और आपके द्धारा स्‍थापित लघु उद्धोग ईकाई सफलता की ओर अग्रसर हो जाएगी।

Deendayal Gramodyog Rojgar Yojana इन कारणों से रोक दिया जाएगा

  • Bank Loan का किसी प्रकार गलत इस्‍तेमाल करने पर।
  • यदि आप अपना प्रोजेक्‍ट पूरा नहीं कर रहे हैं।
  • प्रोजेक्‍ट पूरा करने में जान बूझ कर बरती जा रही कोताही के कारण।
  • आपके द्धारा स्‍थापित ईकाई के बंद हो जाने या काम नहीं करने पर।

Deendayal Gramodyog Rojgar Yojana के लिये जरूरी पात्रता

  • इस योजना में आवेदन ग्रामीण / टाउन एरिया क्षेत्र में रहने वाले लोग ही कर सकते हैं।
  • यदि आपकी परियोजना लागत 15 लाख रूपये से अधिक है, तो हाईस्‍कूल उत्‍तीर्ण होना अनिवार्य है।
  • इस योजना में 18 – 50 आयु तक के लोग ही आवेदन कर सकते हैं।

Deendayal Gramodyog Rojgar Yojana Me Avedan Kaise Kare

उत्‍तर प्रदेश खादी एवं ग्रामोद्धोग बोर्ड के द्धारा दीनदयाल ग्रामोद्धोग रोजगार योजना योजना चलाई जा रही है। इस योजना में आवेदन केवल Offline ही किया जा सकता है।

इस योजना में आवेदन करना तभी संभव होता है, जब विभिन्‍न जिलों में खादी ग्रामोद्धोग विभाग के द्धारा समाचार पत्रों में इस योजना से संबंधित फार्म प्रकाशित करा कर आवेदन पत्र आमंत्रित किये जाते हैं।

उससे पूर्व इस योजना से संबंधित परियोजना का आवेदन पत्र विभाग के द्धारा निरस्‍त कर दिया जाता है।

जब UP Khadi Tatha Gramodyog Board विज्ञापन प्रकाशित करा कर आवेदन पत्र मांगता है, तो आप निर्धारित फार्म को भर कर अपना प्रोजेक्‍ट जिला खादी ग्रामोद्धोग विभाग में सौंप सकते हैं।

यह फार्म आपको जिला खादी ग्रामोद्धोग विभाग में मिलेगा। आप चाहें तो इस फार्म को नीचे दिये गए लिंक पर जाकर भी Online Download कर सकते हैं।

इस फार्म को अच्‍छी तरह भर कर आप अपनी परियोजना विभाग में जाकर सौंप सकते हैं। जिसके बाद विभाग आपकी परियोजना पर विचार करेगा।

यदि आपकी परियोजना नियमों पर खरी उतरी तो इस योजना के लिये आपका चयन हो जाएगा।

पंडित दीनदयाल ग्रामोद्धोग रोजगार योजना के लिये जरूरी दस्‍तावेज

  • आधार कार्ड
  • लघु उद्धोग स्‍थापना का कोई भी प्रशिक्षण प्रमाण पत्र
  • शैक्षिक योग्‍यता प्रमाण पत्र
  • कार्यस्‍थल संबंधी अभिलेखों की छाया प्रति
  • संबंधित कार्य स्‍थल की नवीनतम फोटोग्राफ

Deendayal Gramodyog Rojgar Yojana के तहत लाभार्थियों का चयन कौन करेगा

एक बार जब आप अपना दीनदयाल ग्रामोद्धोग रोजगार योजना में आवेदन पत्र विभाग में प्रस्‍तुत कर देते हैं, तब प्रोजेक्‍ट की जांच व लाभार्थी चयन की प्रक्रिया शुरू हो जाती है।

इस योजना के तहत लाभार्थी चयन की प्रक्रिया निम्‍न अधिकारियों के द्धारा की जाती है।

  • स्‍वयं जिलाधिकारी महोदय अथवा उनके द्धारा नामित कोई अधिकारी
  • परिक्षेत्रीय ग्रामोद्धोग अधिकारी, उत्‍तर प्रदेश खादी एवं ग्रामोद्धोग बोर्ड
  • जिला अग्रणी प्रबंधक
  • उपायुक्‍त जिला उद्धोग केंद्र
  • जिला खादी एवं ग्रामोद्धोग अधिकारी

Also Read :

हमारी इन नयी पोस्ट को भी जरूर पढ़ें



Spread the love

Leave a comment