Nursing Home Registration Online कैसे होता है – नर्सिंग होम रजिस्ट्रेशन इन यूपी 2022

Nursing Home Registration in UP 2022 : देश के अन्‍य राज्‍यों की तरह उत्‍तर प्रदेश में Nursing Home Registration कराना बेहद जरूरी होता है। बिना पंजीकरण के संचालित नर्सिंग होम्‍स पर कानूनी कार्रवाही का खतरा हमेशा मंडराता रहता है। क्‍योंकि इस प्रकार के नर्सिंग होम पूरी तरह गैरकानूनी माने जाते हैं।

उत्‍तर प्रदेश में अभी तक जितने भी Nursing Home चल रहे हैं, उनकी वैधता 31 दिसंबर 2021 तक ही रहेगी। 01 जनवरी 2022 से प्रदेश के सभी नर्सिंग होम्‍स को नये सिरे से पंजीकरण कराना होगा। जो नर्सिंग होम्‍स अपना पंजीकरण नहीं करायेंगें, उनके ऊपर छापा मार कानूनी कार्रवाही की जायेगी।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि इस समय Nursing Home Registration Online in UP की प्रक्रिया चल रही है। जिसके तहत प्रदेश के सभी पुराने नर्सिंगहोम्‍स के साथ साथ नये नर्सिंग होम्‍स के लिये भी आवेदन पत्र आमंत्रित किये गये हैं। आगामी 15 दिसंबर 2021 से पंजीकरण के लिये विभागीय वेबसाइट भी Open कर दी जायेगी।

आज की इस पोस्‍ट में हम आपको Nursing Home Registration in UP in Hindi , Nursing Home Registration Process , Nursing Home Registration Form , Hospital Registration / Renewal Form , नर्सिंग होम कैसे खोलें आदि के बारे में Step by Step जानकारी प्रदान करेंगें। कृप्‍या इस पोस्‍ट को ध्‍यान पूर्वक पढ़ें।

Benefits of Nursing Home Registration ( नर्सिंग होम रजिस्‍ट्रेशन कराने के लाभ )

  • जो नर्सिंगहोम पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी कर लेता है, उस पर कानूनी कार्यवाही का खतरा नहीं मंडराता है।
  • रजिस्‍टर्ड नर्सिंग होम्‍स पर लोग अधिक भरोसा करते हैं।
  • रजिस्‍टर्ड नर्सिंग होम्‍स में क्‍वालीफाइड डॉक्‍टर तथा नर्सें अपनी सेवायें प्रदान करते हैं।
  • पंजीकृत नर्सिंग होम में सरकारी योजनायें जैसे आयुष्‍मान भारत योजना, अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य बीमा योजनाओं का लाभ मरीजों को प्रदान किया जाता है।
  • जो नर्सिंग होम जांच के दौरान अपंजीकृत पाये जाते हैं, उनके खिलाफ केस दर्ज करके कानूनी कार्यवाही की जाती है।
  • पंजीकृत नर्सिंग होम्‍स को सरकार व स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के द्धारा निर्धारित किये गये मानकों का पालन करना होता है। जिससे मरीजों को पर्याप्‍त स्‍वास्‍थ्‍य सुविधायें अनिवार्य रूप से मिलती रहती हैं।
  • यदि इन नर्सिंग होम में किसी प्रकार की अनियमितता पायी जाती है, तो स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की जांच टीम उसका पंजीकरण निरस्‍त कर अवैध घोषित कर सकती  है।
  • नर्सिंग होम्‍स के पंजीकरण से झोला छाप डॉक्‍टरों के द्धारा खोले गये क्‍लीनिक तथा नर्सिंग होम पर उन्‍हें बंद करने का दबाव पड़ता है।
  • PMJAY List में जिन लोगों का नाम शामिल है, उन्‍हें प्राइवेट नर्सिंग होम्‍स में इलाज की सुविधा प्राप्‍त होती है।

Nursing Home Registration का क्रियान्‍वयन कौन सी एजेंसी करती है?

Nursing Home Registration in UP
यूपी में नर्सिंगहोम का पंजीकरण

एक बार जब Nursing Home Registration की प्रक्रिया पूरी हो जाती है, तब सभी पंजीकृत नर्सिंग होम्‍स स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की निगरानी में आ जाते हैं। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग जिला स्‍तर पर जिलाधिकारी की अ‍ध्‍यक्षता में जांच कमेटी गठित करता है।

जिसके बाद Health Department की जांच टीमें अस्तित्‍व में आती हैं। इन जांच टीमों का काम जिलों में संचालित वैध तथा अवैध क्‍लीनिकों, नर्सिंग होम्‍स व प्राइवेट अस्‍पतालों पर छापा मार कार्रवाही करना होता है।

यह जांच टीमें समय समय पर छापा मार कार्रवाही करती हैं तथा अनियमितता पाये जाने पर नर्सिंग होम संचालकों पर कार्रवाही करते हुये नर्सिंग होम्‍स व हॉस्पिटल का पंजीकरण निरस्‍त करने की सिफारिश करती हैं साथ ही गली कूचों में खुले क्‍लीनिकों तथा नर्सिंग होम्‍स को सील करके मुकदमा पंजीकृत कराती हैं।

Documents Required for Nursing Home Registration Online in UP 2022

  • बायो मेडिकल वेस्‍ट अनापत्ति प्रमाण पत्र
  • प्रदूाषण नियंत्रण बोर्ड द्धारा निर्गत NOC
  • अग्नि शमन सुरक्षा प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • सोसाइटी परिसर से अनापत्ति प्रमाण पत्र
  • डॉक्‍टर का रजिस्‍ट्रेशन प्रमाण पत्र (यदि लागू हो)
  • नर्सिंग काउंसिल द्धारा निर्गत नर्सों का रजिस्‍ट्रेशन सार्टिफिकेट (यदि लागू हो)
  • किराये अथवा निजी संपत्ति का प्रमाण पत्र
  • उस भवन के लेआउट की कॉपी जिसमें नर्सिंग होम संचालित होगा
  • पते के प्रमाण हेतु कोई एक दस्‍तावेज
  • नर्सिंग होम चलाने वाले व्‍यक्ति का नवीनतम फोटो ग्राफ
  • सभी दस्‍तावेज स्‍वहस्‍ताक्षरित होंगें
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल एड्रेस आदि
  • पैनकार्ड / टेलीफोन बिल / बिजली बिल / पानी का बिल आदि में से कोई एक दस्‍तावेज

उत्‍तर प्रदेश में नर्सिंग होम रजिस्‍ट्रेशन कैसे होता है – Nursing Home Registration Kaise Kare

How do I Register for Nursing Home in UP : यदि आप डॉक्‍टर अथवा समाजसेवी हैं और आप अपने शहर में नर्सिंग होम खोलने के लिये ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेशन करना चाहते हैं, तो इसके लिये आपको Department of Medical Health and Family Welfare की आधिकारिक वेबसाइट http://up-health.in पर जाकर अपना पंजीकरण कराना होगा।

ऊपर दिये Link पर Click करते ही आप स्‍वास्‍थ विभाग की आधिकारिक वेबसाइट के Home Page पर पहुंच जाते हैं।

Nursing Home Registration / Establishment Process
चिकित्‍सा प्रतिष्‍ठान के पंजीकरण का प्रोसेस

यहां आपको नीचे की ओर Registration of Medical Establishment का एक Option दिखाई पड़ेगा। आपको इस पर Click करना है।

इतना करते ही आप Login Page पर पहुंच जाते हैं। यहां आपको रजिस्‍टर्ड मोबाइल नंबर तथा पासवर्ड डाल कर लॉगिन करना है।

Signup Process
साइन अप करके खुद को रजिस्‍टर करें
  • यदि आप इस वेबसाइट पर पहले से पंजीकृत नहीं हैं, तो आप लॉगिन नहीं कर पायेंगें। इसलिये आप इस फार्म में दिखाई पड़ रहे New Register के विकल्‍प पर क्लिक करें।
  • रजिस्‍ट्रेशन के लिये आपको Citizen Registration के तहत अपना पंजीकरण कराना है। आप इस फार्म में अपनी पूरी जानकारी तथा मोबाइल नंबर दर्ज करें।
  • ईमेल आईडी भरें।
  • अपना पासवर्ड क्रियेट करें।
  • अंत में सबमिट बटन पर क्लिक करें।
  • इतना करते ही आपके मोबाइल पर OTP आता है। आप इससे अपना मोबाइल नंबर वेरीफाई करें और OK बटन पर क्लिक करें।
  • अब आपकी स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की वेबसाइट पर सिटीजन रजिस्‍ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी हो गयी है।
  • अब आप अपने मोबाइल नंबर व पासवर्ड की सहायता से Login करें।
  • लॉगिन करते ही एक नया पेज खुलता है, यहां आपको चिकित्‍सा प्रतिष्‍ठान का रजिस्‍ट्रेशन का एक Option दिखाई पड़ता है। आप इस पर Click करें।

Medical Panjikaran

अब पंजीकरण प्रक्रिया शुरू करें

यदि आपको New Nursing Home Registration Process पूरा करना है तो आप नये रजिस्‍ट्रेशन एप्‍लीकेशन फार्म पर क्लिक करें।

For new medical / clinic establishment
नये मेडिकल प्रतिष्‍ठान के लिये New पर क्लिक करें

अब आप Nursing Home Registration Form के पहले पेज पर पहुंच जाते हैं। यहां आपको टर्म एंड कंडीशन पर अपनी सहमति जताने के लिये टिक मार्क करना है तथा Proceed बटन पर Click करना है।

आपके द्धारा क्लिक करते ही नर्सिंग होम रजिस्‍ट्रेशन फार्म यूपी खुल जाता है।

Fill Your Registration Form for Hospital
नर्सिंग होम के लिये पंजीकरण फार्म ऑनलाइन भरें
  • आप इस फार्म में सभी सूचनायें ठीक ठीक भरें तथा अंत में फार्म Save करके आगे बढ़ें।
  • अगले पेज पर आपको कुछ और जानकारियां Fill करनी है व पूरा फार्म भर जाने के बाद इसे Submit कर देना है।
  • इस प्रकार आपका नर्सिंग होम का पंजीकरण पूरा हो जाता है।

नर्सिंग होम रजिस्‍ट्रेशन स्‍टेटस चेक कैसे करें

नर्सिंग होम का पंजीकरण कराने का आवेदन करने के बाद यदि आप अपने फार्म का Status चेक करना चाहते हैं, तो इसके लिये आप Medical Establishment Dashboard के अंतर्गत दिखाई पड़ने वाले View Submitted Application Status पर क्लिक करें।

नर्सिंग होम पंजीकरण के लिये हेल्‍पलाइन नंबर

यदि आपको नये नर्सिंग होम अथवा पुराने नर्सिंग होम के रिनूवल को लेकर किसी प्रकार की परेशानी हो रही है, तो आप चिकित्‍सा स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण विभाग उत्‍तरप्रदेश में निम्‍न नंबर पर कॉल करके समस्‍या का हल पा सकते हैं।

  • Helpline Number For Nursing Homes in UP – 0522 – 4150500 (तकनीकी हेल्‍पलाइन नंबर)
  • मेल हेल्‍पलाइन – janhithealthup[एट]gmail.com

FAQ – अक्‍सर पूछे जाने वाले सवाल

क्‍या यूपी में पुराने नर्सिंग होम का रिनूवल ऑनलाइन कराना पड़ता है?

जी हां, यूपी में समय समय पर पुराने नर्सिंग होम का रिनूवल ऑनलाइन कराने की जरूरत होती है। क्‍योंकि किसी भी नर्सिंग होम को स्‍थायी पंजीकरण की सुविधा नहीं दी जाती है।

क्‍या क्‍लीनिकल पंजीकरण के लिये शुल्‍क निर्धारित है?

नहीं, वर्तमान में उत्‍तर प्रदेश में क्‍लीनिक/नर्सिंगहोम्‍स/हॉस्पिटल आदि के लिये होने वाले रजिस्‍ट्रेशन प्रोसेस के लिये कोई शुल्‍क नहीं देना पड़ता है।

Nursing Home Registration Online in UP के तहत आवेदन के समय प्रिंट आऊट निकालना भूल गया, अब मैं क्‍या करूं?

यदि आप आवेदन पत्र सबमिट करते समय प्रिंट आउट निकालना भूल गये हैं, तो आप आवेदन पत्र पुन:मुद्रण के विकल्‍प पर क्लिक करके अपना प्रिंट आउट निकाल सकते हैं।

मैं अपने नर्सिंग होम का लाइसेंस नवीनीकरण कैसे कर सकता हूं?

up-health.in पर नये नर्सिंग होम के रजिस्‍ट्रेशन के साथ साथ पुराने नर्सिंग होम के रिनूवल की भी सुविधा प्रदान की जाती है। इसके लिये आपको Renew Registration Application Form भर कर Submit करना होगा।

क्‍या मैं अपना नर्सिंगहोम पंजीकरण फार्म सबमिट करने के बाद उसमें Correction कर सकता हूं?

जी नहीं, यदि आपने अपना पंजीकरण फार्म ऑनलाइन सबमिट कर दिया है तो आप इसमें सुधार नहीं कर पायेंगें। इसके लिये जरूरी है कि आप अपना आवेदन पत्र सबमिट करने से पहले एक बार अवश्‍य जांच लें।

तो दोस्‍तों यह थी हमारी आज की पोस्‍ट Nursing Home Registration Online Kaise Hota Hai – नर्सिंग होम रजिस्‍ट्रेशन इन यूपी 2022 यदि आप Nursing Home Renewal Process in Hindi के बारे में कोई अन्‍य प्रश्‍न पूछना चाहते हैं तो आप हमसें कमेंट बॉक्‍स के जरिये पूछ सकते हैं।

Spread the love

2 thoughts on “Nursing Home Registration Online कैसे होता है – नर्सिंग होम रजिस्ट्रेशन इन यूपी 2022”

  1. बेहतरीन सूचना नर्सिंग होम संचालकों के लिए आसान रास्ता बताने के लिए आपको धन्यवाद।

    Reply

Leave a comment